जासं, अलीगढ़ : शहर के प्रमुख कारोबारी परिवार की बेटी व एएमयू की छात्रा बुधवार रात गुस्से में घर से लापता हो गई। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर ली और तलाश शुरू कर दी। स्वजन भी इंटरनेट मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म का उपयोग कर तलाश में जुटे थे। इस बीच शनिवार शाम छात्रा अपने आप सकुशल घर पहुंच गई। इसको लेकर पुलिस व स्वजन ने राहत की सांस ली है।

सासनीगेट क्षेत्र में रहने वाले कारोबारी की 23 वर्षीय बेटी एएमयू की छात्रा है। छात्रा का बुधवार रात मां से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। गुस्से में बेटी घर से निकल गई। देर रात स्वजन को जानकारी हुई तो तलाश में जुट गए। सुराग न लगा तो थाने में गुमशुदगी दर्ज करा दी। दो दिन तक कोई पता न चल पाने से स्वजन ने थाने में अपहरण की तहरीर दे दी। शाम के वक्त छात्रा घर लौट आई। छात्रा के लौटने की पुष्टि कारोबारी पिता ने की है। सासनीगेट इंस्पेक्टर पंकज मिश्रा ने बताया कि स्वजन ने बेटी के वापस आने की जानकारी मिली है। छात्रा तीन दिन तक कहां रही? इस बारे में बातचीत के बाद ही पता चल सकेगा।

.........

भाई की डांट के बाद दिल्ली से अलीगढ़ भाग आया बालक

जासं, अलीगढ़ : दिल्ली के वजीराबाद से 12 वर्षीय बालक ट्रेन में बैठकर अलीगढ़ आ गया। उसे चचेरे भाई ने गलत आदतों को लेकर डांट दिया था। जीआरपी ने स्टेशन पर उसे पकड़ लिया और चाइल्ड लाइन को सौंप दिया। शाम को आए पिता उसे ले गए। चाइल्ड लाइन के निदेशक ज्ञानेंद्र मिश्रा ने बताया कि बालक का परिवार मूलरूप से बिहार के पटना जिले का रहने वाला है। बालक चचेरे भाई और बहन के साथ दिल्ली के वजीराबाद में रहकर कक्षा छह की पढ़ाई कर रहा है। बालक को 13 अक्टूबर को उसके चचेरे भाई ने कुछ आदतों को लेकर डांट दिया था। इवह नाराज होकर ट्रेन में बैठ कर अलीगढ़ आ गया।

Edited By: Jagran