अलीगढ़ [जेएनएन]: बन्नादेवी क्षेत्र के सराय रहमान स्थित गड्डा वाली मस्जिद के मौलाना के साथ लैपर्ड पुलिस कर्मियों के अभद्रता व मारपीट करने की अफवाह पर गुस्साए लोगों ने लैपर्ड पर पथराव कर डाला। इससे खलबली मच गई। पुलिस ने मामले में 25-30 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मौलाना समेत तीनों लोगों को हिरासत में ले लिया है। फ्लैगमार्च के बाद एहतियातन फोर्स तैनात कर दिया गया है।

ऐसे फैली अफवाह

तकिया वाली गली स्थित मस्जिद में गुरुवार रात करीब आठ बजे ईशा की नमाज पढऩे के लिए करीब 30 लोग पहुंचे थे। तभी बन्नादेवी थाने की चौकी रघुवीरपुरी इंचार्ज दीपक कुमार व दो लैपर्ड कर्मी वहां आ गए। उन्होंने लॉकडाउन होने व धारा 144 लगे होने की बात बताते हुए लोगों से मस्जिद की बजाए घरों में ही रहकर नमाज पढऩे को कहा। तभी किसी ने लैपर्ड कर्मियों के मस्जिद के मौलाना से अभद्रता व मारपीट करने की अफवाह फैला दी। इकट्ठे हुए लोगों ने छतों से पुलिस कर्मियों पर पथराव करना शुरू कर दिया। किसी तरह दारोगा व पुलिस कर्मियों ने अपने को छिपाते हुए बचाया और थाने को खबर दे दी। पथराव में दारोगा व लैपर्ड कर्मी मामूली रूप से घायल हुए हैं।

तीन लिए हिरासत में

खबर पर इंस्पेक्टर बन्नादेवी रविंद्र दुबे, सीओ पंकज कुमार श्रीवास्तव के अलावा कई थानों का फोर्स आ गया। पुलिस ने फ्लैग मार्च पथराव करने वालों को तलाशा। पुलिस ने मौके से मस्जिद के मौलाना समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया है। बकौल सीओ बन्नादेवी, मामले में 25-30 लोगों के खिलाफ पुलिस के साथ मारपीट, अभद्रता, सरकारी कार्य में बाधा डालने की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। घायल पुलिस कर्मियों का डॉक्टरी परीक्षण कराया गया है। मौलाना समेत तीन लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। एहतियातन मस्जिद के पास फोर्स तैनात कर दिया गया है।

Edited By: Sandeep Saxena