अलीगढ़, जागरण संवाददाता। जिला मुख्यालय से करीब 23 किलोमीटर दूर कस्बा गभाना में जीटी रोड से करीब दो सौ मीटर की दूरी पर बैंक आफ आर्यावर्त के मार्ग पर प्राचीन दुर्गा मंदिर बना हुआ है। इस मंदिर में दुर्गा, काली, चंडी के अलावा भगवान शिव परिवार, जहारवीर आदि की प्रतिमाएं स्थापित हैं। नवरात्रों में यहां पर श्रद्धालुओं की भीड़ देखने लायक होती है। मान्यता है कि नवरात्रों में माता रानी यहां आने वाले भक्तों की कष्टों को दूर कर उनका कल्याण करती हैं।

यह है मंदिर का इतिहास

यह मंदिर करीब सौ साल पुराना है। प्राचीन काल से इस मंदिर की मान्यता लगातार बढ़ रही है। श्रद्धालु यहां सुबह व शाम माता के दरबार में मत्था टेकने जरूर आते हैं। मान्यता है कि यहां आने वाले हर भक्त को कल्याणकारी मां जगदंबा मनोवांछित फल पाने का वरदान देती है। इसी मान्यता को लेकर कस्बा ही नहीं बल्कि आस-पास क्षेत्र के दूर दराज के श्रद्धालु आकर अपनी अर्जी जरूर लगाते हैं।

विशेषता मंदिर में सुबह व शाम दोनों वक्त पूजा अर्चना के लिए श्रद्धालु आते हैं और होने वाली आरती में भाग लेकर प्रसाद ग्रहण करते हैं। यहां नवरात्रों के अलावा वर्षभर विशेष दिवसों व पर्वो पर धार्मिक कार्यक्रमों की धूम रहती है। पूरे नवरात्रों में यहां धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है। तैयारियां नवरात्र में मंदिर पर भक्तों द्वारा विशेष साज-सज्जा की जाती है और देवी जागरण, भजन संध्या के साथ ही भंडारा व प्रसाद वितरण का कार्यक्रम किया जाता है। नवमी पर भव्य झांकियां व मां काली की शोभायात्रा निकाली जाती हैं। वहीं श्रद्धालु प्रत्येक दिन भोर में प्रभात फेरी निकालते हैं। --

भक्तों के बोल

माता रानी के चमत्कार का ही प्रतिफल है कि यहां खाली झोली लेकर आने वाला हर भक्त कभी खाली नहीं लौटता है वह मुंह-मांगी मुरादें पा जाता है।

- सीताराम बाबा (महंत)

माता रानी की कृपा पिछले कई सालों से भक्तों पर बरस रही है, यही कारण है कि यहां भक्तों का सैलाब उमड़ता रहता है। नवरात्रों में आने वाले भक्तों पर तो माता रानी कृपा बरसती है।

-सुशील वशिष्ठ (भक्त)

Edited By: Sandeep kumar Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट