आगरा, जेएनएन। गुरुवार सुबह आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे बिहार से दिल्ली जा रही हादसे का शिकार हो गई। हादसे में बस परिचालक की मौके पर ही मौत हो गई। बाकि बस में सवार करीब दर्जन से अधिक सवारियां घायल हो गई हैं। घायलों को सैफई मेडिकल कालेज में इलाज के लिए भेजा गया है।

गुरुवार तड़के आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे से होते हुए बिहार प्रदेश के हाजीपुर से 100 से अधिक यात्रियों को लेकर बस आ रही थी। सुबह करीब साढ़े पांच बजे बस जब मैनपुरी के करहल थाना क्षेत्र के गांव नगला धारा के सामने आई, उसी समय बस के अगले हिस्से में अचानक आग लग गई। चालक के अचानक ब्रेक लगाने से बस एक्सप्रेस-वे के संकेतांक बोर्ड के पोल से टकरा गई। बस के टकराने से बस में सवार सवारियों में भगदड़ मच गइ। बस का परिचालक गंभीर रूप से घायल हो गया और मौके पर ही दम तोड़ दिया। आस पास के ग्रामीणाें ने जब बस से उठती लपटें देखीं और यात्रियों की चीख पुकार सुनी तो मौके पर मदद के लिए दौड़ पड़े इसी दौरान पुलिस को भी सूचित कर दिया गया। हादसा स्थल पर पहुंचे गांव नगला धारा एवं शेखूपुर के ग्रामीणों ने बाल्टियां भर− भर कर बस की आग बुझाई और सवारियों को निकालने में भी मदद की। पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी भी पहुंच गए। एंबुलेंस से घायलों को सैफाई भेजा गया है। हादसे में बस का परिचालक राकेश कुमार निवासी मुजफ्फरपुर बिहार की मौत हो गइ। 

ये हुए घायल

हादसे में अवधेश कुमार, जुगल किशोर, रिंकू, अभिषेक कुमार लाल सिंह, अंजू, रंजीत कुमार व संजीत कुमार निवासी गढ़ मुजफ्फरपुर बिहार, सुनीता, विश्राम सिंह, रिंकी, संतलाल, गोलू, रंजना, रेखा, अर्जुन, कौशल्या, सत्येंद्र, पासवान प्रमिला मुस्कान रविंदर मुकेश कुमार व दिनेशराय जगदेव पंडित निवासी गढ़ वैशाली बिहार तथा राजू, रामदयाल, धर्मेंद्र विनोद, विनोद कुमार, शिवमंगल सिंह, अनूप कुमार, सोनू, आलोक कुमार, खुशीलाल, विपिन कुमारी व रविंद्र सिंह निवासी गण हाजीपुर बिहार घायल हुए हैं। सभी को सैफई मेडिकल कालेज में इलाज के लिए भेजा गया है।