आगरा, जागरण टीम। मानसून जाते जाते इतना तर कर देगा, इतना किसी को अंदाजा नहीं था। अब राहत नहीं बल्कि आफत की बारिश बन चुकी है। पूरे आगरा मंडल में करोड़ाें रुपये का नुकसान होने के साथ दो जनहानि भी हो चुकी हैं। आगरा के पास बरहन में एक महंत की बिजली गिरने से घायल हो गए हैं, वहीं फिरोजाबाद में तीन मकान धंसने से एक बच्चे की मलबे में दबकर मौत हो चुकी है। फिरोजाबाद में सैकड़ाें कारें जलमग्न हो चुकी हैं। वहीं मथुरा, एटा, कासगंज, मैनपुरी से भी बारिश में हुए नुकसान की खबरें आ रही हैं।

मंदिर पर गिरी बिजली, महंत घायल

आगरा के बरहन के गांव गढ़ी भंडार में आहरन रोड स्थित दुर्गे माता के मंदिर पर गुरुवार सुबह बिजली गिर गई। जिसमें मंदिर के महंत गंगा राम 75 वर्ष घायल हो गए और मंदिर की लगभग पांच फीट लंबी शिखर टूट कर गिर गई। बिजली गिरने की आवाज से आसपास के घरों में हलचल मच गई। आवाज सुनकर ग्रामीण मंदिर की तरफ पहुंचे। घायल अवस्था में मंदिर में उपस्थित महंत गंगाराम को बरहन के निजी चिकित्सक के यहां उपचार के लिए भर्ती कराया है।

यमुनापार इलाके में धंसी सड़क। 

कहीं गिरी पुलिया तो कहीं गिरी दीवार

14 घंटे से लगातार मूसलाधार बारिश होने से यमुनापार में आम नागरिक का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। लगातार बारिश से यमुनापार क्षेत्र में नुनिहाई रोड पर एक पुलिया धंस गई। बस्तियों का पानी सड़क के नीचे की मिट्टी को काटता हुआ जा रहा है। यमुनापार में देर रात 10:00 बजे से झमाझम बारिश शुरू हो गई थी। जिसके बाद देर रात नुनिहाई जिला उद्योग केंद्र के सामने करीब 18 वर्ष पुरानी पुलिया बैठ गई। जिसके बाद गलियों का पानी सड़क व पुलिया की मिट्टी कटकर नुनिहाई शाहदरा मार्ग को सड़क को काटकर मिट्टी को हटाते हुए पानी नीचे जाने लगा है। जिसके चलते पुलिया के पास 15 फीट चौड़ा 20 फुट के करीब लंबाई में सड़क के सहारे फुटपाथ में गड्ढा हो गया। मौके पर मौजूद पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर यातायात व्यवस्था को सुचारू कराया।

जनकपुरी इलाके में भरा पानी

दयालबाग में सजी जनकपुरी इलाके में भी तमाम कॉलोनियाें में पानी भर चुका है। प्रभु श्रीराम की बरात पहुंच चुकी है, लेकिन लोग उनका उतनी भव्यता से स्वागत नहीं कर पाए, जितनी तैयारियां कर के रखी थीं। महर्षि पुरम, दहतौरा, बिजलीघर, कमलानगर, विजय नगर में भी जलभराव की सूचना है।

फिरोजाबाद में तीन मकान धंसे, कारें डूबीं

फिरोजाबाद में तीन मकान धंसने से एक बच्चे की मौत हो चुकी है और मलबे में दबकर कइर् लोग घायल हुए हैं। वहीं प्रकाश टॉकीज के परिसर में खड़ीं करीब 100 कारें जलमग्न हो चुकी हैं, इससे लाखाें रुपये का नुकसान हो चुका है।  

बारिश के कारण करनी पड़ी कई स्कूलों की छुट्टी

बुधवार से हो रही लगातार वर्षा से जिले के विद्यालय ताल-तलैया बन गए। कई विद्यालय परिसर में, तो कई जगह कक्षा में पानी भर गया, इस कारण कुछ जगह छुट्टी करनी पड़ी, तो कई में पढ़ाई प्रभावित रही। पचकुइयां स्थित शिक्षा भवन तालाब बना नजर आया।

शिक्षा विभाग परिसर स्थित पार्किंग स्थल में जलभराव से तालाब जैसा नजर दिखा। करीब एक फीट पानी भरने से गाड़ियां पहुंचने में भी परेशानी हुई। अधिकारी पहुंचें, तो गेट पोर्च पर गाड़ी लगाकर बमुश्किल उतरे। अपने काम कराने को पहुंचे फरियादी व विद्यालय संचालकों को रिक्शे में बैठकर पहुंचना पडा। कार्यालय की छत टपकने और पानी भरने के कारण कर्मचारी परेशान रहे।

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट