आगरा, कुलदीप सिंह। ताजमहल का आकर्षण बॉलीवुड को जब-तब लुभाता रहा है और यहां दर्जनों फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। बावजूद इसके ब्रज की धरा पर फिल्माई फिल्मों में ब्रजभाषा का लोप ही रहा। अस्सी के दशक में शिवकुमार ने अथक प्रयास करके दो फिल्में बनाई और इनसे ख्याति भी खूब पाई। अब साढ़े तीन दशक बाद भोजपुरी की तर्ज पर ब्रज सिनेमा की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं। इस बार ब्रज भाषा में बनने वाली वेब सीरीज में बॉलीवुड कलाकार अक्षय आनंद सहित किक और मंगल पांडे जैसी फिल्मों के एक्शन डायरेक्टर रहे शेखावत हुसैन स्टंट सीन फिल्माते नजर आएंगे।

ब्रज की मीठी और मनभावन बोली ने फिल्मी दुनिया को भी रिझाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। फिल्म निर्माता शिव कुमार ने ब्रजभूमि और लल्लूराम फिल्में बनाईं तो उनकी शूटिंग आगरा में भी विशेष रूप से की गई। ब्रज भाषा की इन फिल्मों के सुरीले गीत आज भी मिठास बिखेरते हैं। 1982 में बनी ब्रजभूमि में अभिनेता राजा बुंदेला और अभिनेत्री अलका नूपुर थे। निर्माता निर्देशक शिवकुमार ने खुद भी अभिनय किया था। फिल्म के डायलॉग ब्रज भाषा में लिखे गए थे। जिसमें ब्रज क्षेत्र के कॉस्ट्यूम अंगरखा, टोपी आदि का उपयोग किया गया था। फिल्म के गीतों को सुर विख्यात गायक रवींद्र जैन ने दिया। इस फिल्म का गीत-चारों धामों से निराला ब्रजधाम, दर्शन कर लो जी। लोगों की जुबान पर है। इस फिल्म में सावन का गीत 'झूला तो पड़ गये अमुवा की डार पै' सर्वाधिक लोकप्रिय रहा। शिवकुमार ने ही दूसरी फिल्म लल्लूराम 1985 में बनाई। जिसमें ब्रज की संस्कृति को प्रदर्शित किया गया था। इस कॉमेडी फिल्म में बैजयंती च्यवन, गजेंद्र चौहान, गौरी, अरुण गोविल, अरुणा ईरानी, सत्येंद्र कपूर आदि की भूमिकाएं थीं। इसकी शूटिंग आगरा क्लब और अन्य कई होटलों में की गयी थी।

एक्शन फिल्म होगी डी-धनंजय

फिल्म निदेशक अखिल पाराशर ब्रज भाषा में पहली एक्शन वेब सीरीज डी-धनंजय का निर्माण कर रहे हैं। इसमें स्टूडेंट ऑफ द ईयर, गुलाम और शहीद जैसी फिल्मों में काम कर चुके अभिनेता अक्षय आनंद एसएसपी की भूमिका निभाते नजर आएंगे। अखिल पाराशर ने बताया कि फिल्म की शूटिंग बाह, पिनाहट और बटेश्वर में की जाएगी। फिल्म में एक्शन सीन को मंगल पांडे, किक, बंटी और बबली और बजाते रहो जैसी फिल्मों के एक्शन डायरेक्टर शेखावत हुसैन फिल्माएंगे। बॉलीवुड फिल्मों की तरह एक्शन सीन में कलाकार ब्लास्ट, ग्रेनेड और एके-47 चलाते नजर आएंगे। फिल्म में स्थानीय कलाकारों को मौका दिया जाएगा। यह वेब सीरीज होली पर रिलीज की जाएगी।

भोजपुरी से ज्यादा संभावनाएं ब्रज में मौजूद

रंगमंच से जुड़े विनय पतसारिया ने बताया कि ब्रज से छोटा होने के बाद भी भोजपुरी सिनेमा दुनिया में अपनी पहचान बना रहा है। ब्रज में कहानी और लोक कथाओं की भरमार है। बेहतरीन लोकेशन भी यहां मौजूद हैं। सही दिशा और ब्रज सिनेमा को आगे बढ़ाकर यह दुनिया में अपनी पहचान बना सकता है।

बॉलीवुड को भाती हैं यह लोकेशन

आगरा में शूटिंग के लिए ताजमहल, फतेहपुरसीकरी, मेहताब बाग, एत्माद्दौला, स्ट्रेची ब्रिज, चंबल आदि का इलाका सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। इसके अलावा मथुरा, वृंदावन और गोवर्धन के मंदिर, नंदगांव, बरसाना फिल्मकारों की पसंदीदा जगह बना हुआ है।

Edited By: Jagran