आगरा, जागरण संवाददाता। अक्‍सर किसी न किसी विवाद के चलते चर्चाओं में रहने वाले पूर्व मंत्री चौधरी बशीर एक बार फिर फंस गए हैं। दरअसल कोरोना संक्रमण काल में मंटोला में गुरुवार रात को प्रशासन की अनुमति के बिना बकरा मंडी लगाई गई थी। मंडी में पहुंचे लोगों के समर्थन में पूर्व मंत्री चौधरी बशीर पहुंच गए। उन्होंने लाउड हेलर लेकर भाषण दिए। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने पूर्व मंत्री समेत 46 लाेगों के खिलाफ धारा 188 और महामारी अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार ईद से पहले मंटोला में बकरा मंडी लगाने की अनुमति नहीं दी गई थी। गुरुवार रात काफी संख्या में विक्रेता बकरे लेकर मंटोला तिराहे पर आ गए। इससे भीड़ लग रही थी। विक्रेताओं को वहां से हटाकर पुलिस चली गई। कुछ देर बाद ही चौधरी बशीर अपने कुछ साथियों को लेकर पहुंचे। लाेगों से कहा कि वे वहीं रहें। कहीं न भागें। पुलिस आएगी तो वे वहां बैठे हैं किसी को भागने की जरूरत नहीं। उन्होंने यह भी कहा कि सभी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और मास्क लगाएं। मगर, मौके पर ऐसा हो नहीं रहा था। शुक्रवार को वायरल वीडियो में चौ. बशीर भाषण देते हुए दिख रहे हैं। समर्थन में लाेग नारेबाजी करते भी नजर आ रहे हैं। इसके बाद चौ. बशीर की मौजूदगी में वहां बकरों की बिक्री होती रही। वीडियो वायरल होने के बाद चौकी प्रभारी रेलवे लाइन चंद्रवीर सिंह ने मुकदमा दर्ज कराया। इसमें पूर्व मंत्री चौधरी बशीर, फरमान, मिसवा, जावेद और शोएब सहित 30-40 अज्ञात शामिल हैं। सीओ छत्ता उदयराज सिंह ने बताया कि वीडियो के आधार पर मुकदमा दर्ज कराया गया है। जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप