आगरा, जागरण संवाददाता। मुगल शहंशाह अकबर के वित्त मंत्री रहे राजा टोडरमल की बारादरी का पुराना वैभव एक बार फिर लौटेगा। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) द्वारा बारादरी का संरक्षण किया जा रहा है। इस पर करीब 20 लाख रुपये व्यय होंगे। यहां उत्खनन में प्राचीन टैंक मिला है।

फतेहपुर सीकरी में अकबर के वित्त मंत्री रहे राजा टोडरमल की दो मंजिला बारादरी है। एएसआइ द्वारा करीब दो दशकों के बाद यहां संरक्षण कार्य कराया जा रहा है। यहां उत्खनन में वर्गाकार डिजाइनदार टैंक व फव्वारा मिला है। यह टैंक प्रत्येक दिशा से 8.7 मीटर लंबा और 1.1 मीटर गहरा है। बारादरी में दूसरी मंजिल पर उत्तर दिशा में टूटे हुए तोड़े और छज्जे लगाने का काम पूरा हो चुका है। अब पश्चिम दिशा में टूटे तोड़े और छज्जे के पत्थर लगाने का काम शुरू किया गया है। पहली मंजिल पर दासा और तोड़े लगाने का काम होगा। इसके अलावा खराब हुए लाइम कंक्रीट के काम को दोबारा किया जाएगा। अधीक्षण पुरातत्वविद वसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया कि टोडरमल की बारादरी को उसके मूल स्वरूप में संरक्षित किया जा रहा है। इस काम में अभी समय लगेगा।

लगाए जाएंगे दरवाजे

बारादरी चारों ओर से खुली हुई है, जिससे उसमें असामाजिक तत्वों का डेरा लगा रहता है। संरक्षण कार्य के दौरान एएसआइ द्वारा बारादरी के खुले हिस्सों पर लोहे के दरवाजे लगाए जाएंगे, जिससे असामाजिक तत्वों का प्रवेश रुकेगा।

टैंक का मिला आउटलेट और ओवरफ्लो

बारादरी के मुख्य द्वार के सामने उत्खनन में मिले प्राचीन टैंक का आउटलेट और ओवरफ्लो मिल गया है। टैंक का आउटलेट दक्षिण दिशा में, जबकि ओवरफ्लो पश्चिम दिशा में है। एएसआइ के अधिकारी अभी टैंक के सूखने का इंतजार कर रहे हैं। टैंक सूखने के बाद उसकी बाहरी दिशा में उत्खनन किया जाएगा। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप