आगरा, जागरण संवाददाता। ताजमहल पर प्रदूषण रोकने के लिए पहले आगरा का फाउंड्री उद्योग बंद हुआ था। अब नए आदेश के बाद ताजमहल के आसपास हो रही व्यावसायिक गतिविधियां बंद की जानी हैं। इससे वहां रोजाना कमाकर खाने वाले के सामने रोजगार का संकट पैदा होने वाला है।

ये है मामला

सुप्रीम कोर्ट द्वारा पश्चिमी गेट मार्केट एसोसिएशन की याचिका पर दिए गए आदेश से ताजगंज पर संकट खड़ा हो गया है। ताजमहल की 500 मीटर की परिधि में हैंडीक्राफ्ट शोरूम, दुकानें व होटल बड़ी संख्या में हैं। यहां व्यावसायिक गतिविधियों पर रोक लगाए जाने से हजारों लोगों की आजीविका प्रभावित होगी और वे बेरोजार हो जाएंगे।पश्चिमी गेट मार्केट एसोसिएशन ने ताजमहल के 500 मीटर की परिधि में व्यवसायिक गतिविधियों पर रोकलगाने के लिए एडीए को निर्देश देने की मांग की थी।

ये पड़ेगा असर

ताजमहल की 500 मीटर की परिधि में पूर्वी, पश्चिमी व दक्षिणी गेट पर दर्जन भर बड़े हैंडीक्राफ्ट एंपोरियम हैं। कई होटल और रेस्टोरेंट्स यहां हैं। तीनों गेटों पर 100 से अधिक दुकानें हैं, जहां हैंडीक्राफ्ट्स आइटम, कपड़े, रोजमर्रा का सामान मिलता है। ताजमहल घूमने आने वाले भारतीय और विदेशी पर्यटकों के सहारे यहां कारोबार चलता है। यहां व्यावसायिक गतिविधियां बंद किए जाने से पूरा ताजगंज ही संकट में आ जाएगा। हैंडीक्राफ्ट शोरूम संचालकों, होटल व रेस्टोरेंट संचालकों और दुकानदारों के साथ ही उनके यहां काम करने वाले सैकड़ों लोगों के समक्ष आजीविका का संकट खड़ा हो जाएगा। इस आदेश के बाद ताजमहल के आसपास रहने वाले लोगों की नींद उड़ चुकी है।

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट