न्यूयार्क, एजेंसी। एक सप्ताह के अंदर दो दिग्गजों रोजर फेडरर और सेरेना विलियम्स के टेनिस से संन्यास लेने जैसी घोषणाओं से टेनिस के एक युग का अंत हो रहा है, साथ ही इस खेल के अगले दौर की शुरुआत हो रही है। महज 21 साल की उम्र में अपना तीसरा ग्रैंडस्लैम जीतने वाली पोलैंड की इगा स्वियातेक और 19 वर्ष में अपना पहला ग्रैंडस्लैम जीतने वाले स्पेन के कार्लोस अलकराज ने नए युग की शुरुआत की झलक दिखा दी है।

सेरेना ने यूएस ओपन के बाद इस तरह के संकेत दिए थे कि वह अपना आखिरी पेशेवर मैच खेल चुकी हैं, जबकि फेडरर ने गुरुवार को खेल को अलविदा कहने की घोषणा की थी। इन दोनों खिलाड़ियों की विदाई से पहले ही टेनिस के भविष्य को लेकर काफी चर्चा की जा रही थी, लेकिन स्वियातेक और अलकराज जैसे युवाओं ने हाल के दिनों में यह साबित किया कि खेल सही हाथों में है। सेरेना ने 23 और फेडरर ने 20 ग्रैंडस्लैम जीते। इन दोनों ने इसके साथ ही ओलिंपिक पदक और कई टूर्नामेंट में जीत का परचम लहराया और सैकड़ों सप्ताह तक रैंकिंग में शिखर पर रहे। इन खिलाड़ियों की जगह को भरने के लिए हालांकि युवा ब्रिगेड तैयार है। स्वियातेक और अलकराज ने छोटे अंतरराष्ट्रीय करियर में ही इसकी झलक पेश कर दी है।

अपने-अपने वर्गों में शीर्ष पर हैं स्वियातेक और अलकराज : स्वियातेक छह महीने पहले एश्ले बार्टी के संन्यास के बाद से रैं¨कग में नंबर एक महिला खिलाड़ी हैं। वह 2016 के बाद से एक सत्र में दो ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाली पहली महिला हैं। दूसरी ओर, अलकराज 1973 में कंप्युटरीकृत रैं¨कग शुरू होने के बाद से बीते सोमवार को नंबर एक रैंकिंग हासिल करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने थे। वह 1990 में पीट संप्रास के बाद से यूएस ओपन और नडाल (2005 में फ्रेंच ओपन) के बाद से किसी भी ग्रैंडस्लैम के पुरुष सिंगल्स ट्राफी को जीतने वाले पहले सबसे युवा खिलाड़ी हैं।

एक पीढ़ी का अंतर : अलकराज और स्वियातेक को भले ही फेडरर तथा सेरेना के बाद नए युग की अहम कड़ी माना जा रहा है, लेकिन इनके बीच एक पीढ़ी का अंतर है। दिलचस्प बात तो यह है कि फेडरर ने जब अपना पहला ग्रैंडस्लैम जीता था तब अलकराज की उम्र महज दो महीने थी, जबकि स्वियातेक दो साल की थीं। इन दोनों खिलाडि़यों पर फेडरर और सेरेना के खेल की गहरी छाप है। स्वियातेक और अलकराज के अलावा नाओमी ओसाका, कोको गफ, फ्रांसेस टियाफो, जानिक सिनर, कैस्पर रूड और ओंस जेब्यूर जैसे खिलाड़ियों ने पिछले कुछ समय में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है।

पुरुषों में सक्रिय हैं बिग टू : पुरुषों में फेडरर के जाने के बाद भी राफेल नडाल और नोवाक जोकोविक सक्रिय है। नडाल और जोकोविक सर्वाधिक ग्रैंडस्लैम जीतने के मामले में फेडरर से पहले ही आगे निकल चुके थे और लगातार खेल भी रहे हैं। नडाल और जोकोविक के रहते किसी भी अन्य खिलाड़ी के लिए अपना परचम लहराना आसान नहीं होगा, लेकिन इस साल अलकराज ने इन दोनों खिलाड़ियों को हराया था। नडाल पिछले कुछ दिनों से अपनी चोट से परेशान हैं और जोकोविक कोविड-19 का टीका नहीं लगवाने के कारण सीमित प्रतियोगिताओं में खेल रहे है। इसके बाद भी दोनों ने साल के चार में तीन ग्रैंडस्लैम को अपने नाम किए हैं। नडाल ने इस साल आस्ट्रेलियन ओपन और फ्रेंच ओपन जीता था, जबकि जोकोविक विंबलडन के चैंपियन बने थे।

Edited By: Sanjay Savern