Move to Jagran APP

Zomato ने पेश की UPI पेमेंट सर्विस, यूजर्स के लिए कैसे होगा मददगार

फूड डिलीवरी चैन चलाने वाली कंपनी Zomato ने अपनी UPI service लॉन्च की है। यह पहला ऐसा फूड डिलीवरी ऐप होगा जो यूजर्स को ऐसी सुविधा देने जा रहा है। कंपनी ने अपने सेवा देने के लिए ICICI बैंक के साथ साझेदारी की है।

By Ankita PandeyEdited By: Ankita PandeyPublished: Tue, 16 May 2023 06:43 PM (IST)Updated: Tue, 16 May 2023 06:43 PM (IST)
Zomato ने पेश की UPI पेमेंट सर्विस, यूजर्स के लिए कैसे होगा मददगार
Zomato UPI services launches for users, know how it will help

नई दिल्ली, टेक डेस्क। गुरुग्राम स्थित Zomato भारत में अपने कुछ यूजर्स के लिए UPI सेवाओं की पेशकश करने वाला पहला ऑनलाइन फूड और ग्रोसरी डिलीवरी ऐप बन गया है। Zomato ने सेवा देने के लिए ICICI बैंक के साथ साझेदारी की है। नई सेवा यूजर्स को व्यापारियों के साथ-साथ पीयर-टू-पीयर भुगतान करने की अनुमति देगी।

loksabha election banner

यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) एक रीयल-टाइम भुगतान प्रणाली है, जिसे भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) द्वारा विकसित किया गया है। यह सेवा यूजर्स को सहायक ऐप्स पर UPI पिन का उपयोग करके सीधे अपने फोन से यूजर्स के बीच पैसे ट्रांसफर करने में मदद करती है। UPI सेवा में गूगल पे, पेटीएम और फोनपे कुछ टॉप प्लेयर्स हैं।

UPI की पेशकश करने वाले हैं ये ई-कॉमर्स ऐप

सितंबर 2022 की रिपोर्टों में पता चला है कि Zomato और स्विगी दोनों अपने प्लेटफॉर्म पर डिजिटल भुगतान के लिए अपनी UPI पेशकश पेश करने की योजना बना रहे थे। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ई-टेलर प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट ने भी अपने UPI ऑफर पर काम करना शुरू कर दिया है। Zomato और Flipkart दोनों का उद्देश्य अपने स्वयं के UPI सर्विस के माध्यम से एक बेहतर यूजर अनुभव देना है।

Zomato पेमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड

ई-वॉलेट, पेमेंट गेटवे सेवाओं और अन्य जैसी डिजिटल भुगतान सेवाओं को संचालित और पेश करने के लिए, Zomato ने अगस्त 2021 में Zomato पेमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड नामक एक सहायक कंपनी की स्थापना की। स्विगी ने 2020 में अपने डिजिटल वॉलेट, स्विगी मनी को लॉन्च करने के लिए ICICI बैंक के साथ साझेदारी की। Zomato के पास 2022 में 58 मिलियन वार्षिक लेन-देन करने वाले ग्राहक थे, जो 2021 में 49.5 मिलियन से बढ़ गए।

NPCI का उद्देश्य UPI बाजार में विविधता

NPCI UPI नेटवर्क को कंट्रोल करता है। वॉलमार्ट के PhonePe और Google के Gpay पर निर्भरता कम करने के प्रयास में, NPCI अन्य कंज्यूमर इंटरनेट कंपनियों को नेटवर्क में लाकर UPI क्षेत्र में विविधता लाने की कोशिश कर रहा है। PhonePe और GPay की संयुक्त रूप से बाजार में 80% से अधिक की हिस्सेदारी है। इन ऐप्स के वर्चस्व को तोड़ने का इरादा रखते हुए, NPCI ने थर्ड पार्टी ऐप के लिए भुगतान की मात्रा के बाजार में हिस्सेदारी पर एक कैप का भी प्रस्ताव दिया है।

रेगुलेटरी संस्था ने बाजार हिस्सेदारी पर 30% कैप का भी प्रस्ताव दिया, जिसे उसने 31 दिसंबर, 2022 से लागू करने की योजना बनाई थी। हालांकि, उन योजनाओं को अब दो साल के लिए टाल दिया गया है। रिपोर्ट के अनुसार इसने कंज्यूमर इंटरनेट कंपनियों के लिए दूसरे भुगतान एग्रीगेटर्स पर निर्भर रहने के बजाय अपनी खुद की UPI पेश करने का प्रोत्साहन किया है। उन कंपनियों के लिए जो हर साल लाखों लेनदेन देखती हैं, आपका भुगतान उत्पाद भविष्य में लगाए जा सकने वाले किसी भी संभावित मर्चेंट कमीशन के खिलाफ हेजिंग का एक तरीका है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.