नई दिल्ली, टेक डेस्क। मौजूदा दौर में स्मार्टफोन के बाज़ार में यूं तो चीन का दबदबा बना हुआ है। लेकिन शायद ये दबदबा अब खत्म हो सकता है। क्यूंकि चीन की तीन मोबाइल कंपनियां Oppo, Vivo और Xiaomi भारत में टैक्स चोरी के आरोपों से घिरी हुई हैं। 

चीन ने अपने सरकारी अखबार के जरिये ये कहा

  • चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार चीनी कंपनियों ने भारत को एक विदेशी उत्पाद-प्रोसेसिंग सेंटर बनाने की कोशिश की थी लेकिन यदि यहां काम करना कठिन और घाटे का सौदा रहा, तो भारत से वापस जाना ही कंपनियों के लिए एक मात्र विकल्प बचता है।
  • अपने सरकारी अखबार के द्वारा चीन ने ये भी कहा कि भारत में चीनी कंपनियों की बार-बार जांच से न केवल उन कंपनियों के काम में बाधा आती है बल्कि भारत में कारोबारी माहौल में हुए सुधार को भी बाधित करती है। इसके साथ ही भारत में निवेश के लिए चीनी उद्यमों के विश्वास और इच्छा को भी कम करती है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी थी जानकारी

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा से इस मामले की जानकारी देश को दी। उन्होंने बताया कि Oppo, Vivo और Xiaomi को DRI (Directorate of Revenue Intelligence) द्वारा टैक्स चोरी के लिए नोटिस भेजा गया था। सीतारमण ने अपने एक लिखित उत्तर में बताया कि DRI द्वारा की गई जांच के आधार पर Oppo India को 4,403.88 करोड़ रुपये की मांग के लिए कारण बताओ नोटिस भेजा गया है। तो वहीं DRI ने Vivo India पर लगभग 2,217 करोड़ रुपये की कस्टम ड्यूटी चोरी और Xiaomi India की 653 करोड़ रुपये की कस्टम ड्यूटी चोरी करने की जानकारी दी है, इसमें से शाओमी ने अभी तक सिर्फ 46 लाख रुपये ही जमा किए हैं।

Edited By: Kritarth Sardana