नई दिल्ली, टेक डेस्क। लिंक्‍डइन हिंदी समेत 25 भाषाओं में उपलब्ध हो गया है। ऐसे में नौकरी सर्च करने के मामले में भाषा बाधा नहीं बनेगी। हिंदी साथ लिंक्डइन दुनिया की 25 भाषाओं को सपोर्ट करेगी। हिंदी में लिंक्‍डइन का फेज1 आज से शुरू हो रहा है, ऐसे में मेंबर्स अपनी फीड, प्रोफाइल, जॉब और मैसेजिंग तक पहुंच सकेंगे और अपने डेस्कटॉप, एंड्रॉयड और आईओएस फोन पर हिंदी में कंटेंट बना सकेंगे। हिंदी में लिंक्डइन अब दुनिया भर में सभी सदस्‍यों के लिए डेस्कटॉप और एंड्रॉयड पर उपलब्ध होगा। आने वाले दिनों में यह सभी आइओएस यूजर्स के लिए भी उपलब्ध कराया जाएगा। 

कैसे करें इस्तेमाल 

लिंक्डइन का मोबाइल एप्लिकेशन हिंदी में देखने के लिए आपको अपने फोन की सेटिंग्स में जाकर डिवाइस की पसंदीदा भाषा के रूप में हिंदी का चुनाव करना होगा। जिन स्मार्टफोन यूजर्स ने अपने फोन में पहले ही डिवाइस की प्रेफर्ड लैंग्वेज के रूप मे हिंदी का चयन किया है।

  • डेस्कटॉप पर सदस्यों को सबसे पहले लिंक्डइन के होमपेज पर टॉप पर जाकर “मी” आइकन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद “सेटिंग्स और प्राइवेसी” को सिलेक्ट करना होगा।
  • मेंबर्स को इसके बाद लेफ्ट पर “अकाउंट प्रेफरेंसेज” पर क्लिक करना होगा।
  • साइट प्रेफरेंसेस” को सिलेक्ट करना होगा।
  • लैंग्वेज के बगल में “चेंज” पर क्लिक करना होगा और “हिंदी” का ड्रॉप डाउन लिस्ट से चयन करना होगा।
  • एक बार सिलेक्ट किए जाने के बाद यूजर इंटरफेस और नेविगेशन बार समेत प्लेटफॉर्म पर सारा कंटेंट हिंदी में डिस्प्ले होगा।
  • इससे मेंबर्स को बेहद जल्दी और आसानी से उन फीचर्स की तलाश में मदद मिलेगी, जिसे वह खोज रहे हैं
  • मेंबर्स की होमफीड पर यूजर जेनरेटड कंटेंट उसी भाषा में दिखाई देगा, जिस भाषा में उसे बनाया गया है।

हालांकि वह मेंबर्स, जिन्होंने अपनी प्राइमरी भाषा के रूप में हिंदी का चयन किया है। वह अपनी पोस्ट पर “सी ट्रांसलेशन” के ऑप्शन पर क्लिक करने से संबंधित पोस्ट का हिंदी में अनुवाद देख सकेंगे। अगर मेंबर्स लिंक्डइन पर हिंदी में कोई कंटेंट बनाने के लिए हिंदी की बोर्ड इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो उन्हें अपने कीबोर्ड की इनपुट लैंग्वेज को हिंदी में बदलना होगा या हिंदी कीबोर्ड को अपने डेस्कटॉप या स्मार्टफोन से जोड़ना होगा।

भारत में लिंक्डइन बड़ा बाजार 

भारत लिंक्डइन का दुनिया में सबसे बड़ा मार्केट है। लिंक्डइन मेंबर्स की कुल संख्या 800 मिलियन है। इसमें से 82 मिलियन भारत से हैं। पिछले तीन साल में भारत में लिंक्डइन मेबर्स की संख्या में 20 मिलियन का इजाफा हुआ है। 

भारत में बढ़ रही लोकल लैंग्वेज में जॉब सर्च की डिमांड 

लिंक्डइन की तरह ही जॉब एवं प्रोफेशनल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म apna.co ने बताया कि इसके 57 फीसदी यूज़र्स अपनी स्थानीय भाषा में नौकरी के अवसरों की तलाश करते हैं और अपना प्रोफेशनल नेटवर्क बनाना पसंद करते हैं। 2019 में लॉन्च किया गया apna ऐप वर्तमान में अंग्रेज़ी के अलावा 10 भाषाओं में उपलब्ध है, इनमें हिंदी, कन्नड, बंगाली, आसामी, गुजराती, मलयालम, मराठी, उड़िया, तमिल और तेलुगु शामिल हैं। 

Edited By: Saurabh Verma