नई दिल्ली, टेक डेस्क। दूरसंचार विभाग (DoT) ने ऐलान किया है कि रिलायंस जियो पहले चरण में भारत के 13 मेट्रो सिटी में 5G सर्विस रोलआउट करेगा। साथ ही जियो की मानें, तो कंपनी भारत के करीब 1000 शहरों में 5G नेटवर्क उपलब्ध कराने की योजना पर काम कर रही है। टेलिकॉम ऑपरेटर रिलायंस जियो की तरफ से स्वदेशी 5G नेटवर्क तकनीक पर काम किया गया गया है। इसमें हार्डवेयर, से लेकर सभी कंपोनेंट 5G टेक्नोलॉजी पर बेस्ड है।

कितनी होगी स्पीड

91mobiles की रिपोर्ट के मुताबिक जियो 5G नेटवर्क पर पर हाई स्पीड कनेक्टिविटी मिलेगी। जिसकी अधिकतम डाउनलोड स्पीड 420Mbps होगी। जबकि अधिकतम अपलोडिंग स्पीड 412 Mbps रहेगी। इस दौरान लेटेंसी 11ms और 9ms होगी। अगर जियो की 4G स्पीड से तुलना करें, तो जियो 5G की डाउनलोडिंग स्पीड 4G के मुकाबले 8 गुना ज्यादा होगी। वही अपलोडिंग स्पीड 4G के मुकाबले 15 गुना ज्यादा होगी। मौजूदा वक्त में जियो की 4G डाउनलोडिंग स्पीड 46.82 Mbps है। जबकि अपलोडिंग स्पीड 25.31 Mbps है। यह टेस्टिंग मुंबई के जियो 5G नेटवर्क पर की गई है।

वास्तव में कम होगी स्पीड 

हालांकि जब वास्तव में नेटवर्क उपलब्ध होंगे, तो इस 5G स्पीड में थोड़ बहुत बदलाव देखा जा सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक जब वास्तव में नेटवर्क उपलब्ध होगा, तो ज्यादा संख्या में यूजर्स मौजूद होंगे। ऐसे में उम्मीद है कि मौजूदा जियो 5G की अपलोडिंग और डाउनलोडिंग नेटवर्क में गिरावट दर्ज की जा सकती है। अगर 4G नेटवर्क की टेस्टिंग की बात करें, तो जब साल 2016 में जियो 4G नेटवर्क लॉन्च हुआ था, उस वक्त जियो 4G की स्पीड टेस्टिंग के दौरान करीब 135Mbps थी। जो बाद में घटकर 25 से 30Mbps रह गयी।

चरणबद्ध तरीके से रोलआउट होगा 5G 

लीडिंग टेलिकॉम ऑपरेटर्स की तरफ से भारत में हाई स्पीड 5G सर्विस को रोलआउट किया जा रहा है। जियो समेत टेलिकॉम कंपनियां चरणबद्ध तरीके से जियो नेटवर्क को देशभर में लॉन्च करेंगी। कंपनी ने पहले ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वॉट्सऐप के साथ साझेदारी का ऐलान किया गया है, जिससे ग्राहकों को सस्ती दर पर 5G रिचार्ज प्लान उपलब्ध कराया जा सके। अन्य टेलिकॉम कंपनी जैसे एयरटेल और वोडाफोन आइडिया को साल 2022 और 2023 में भारत में रोलआउट किया जाएगा।

Edited By: Saurabh Verma