नई दिल्ली (टेक डेस्क)। Google ने अपना पहला Android Q लॉन्च कर दिया है। पिछले वर्ष की तरह Google ने डेवलपर प्रीव्यू से शुरुआत नहीं की है। कंपनी ने इसका बीटा वर्जन पेश किया है। Google ने Android Q Beta 1 अपडेट पेश किया है। इसे सबसे पहले Google Pixel सीरीज में पेश किया गया है। इस अपडेट को Pixel 3, Pixel 3 XL, Pixel 2 और Pixel 2 XL के यूजर्स इंस्टॉल कर सकते हैं। यहां हम आपको Android Q के फीचर्स की जानकारी दे रहे हैं। इसमें प्राइवेसी प्रोटेक्शन्स से लेकर फोल्डेबल फैक्टर्स तक कई फीचर्स शामिल हैं।

प्राइवेसी प्रोटेक्शन्स:

Android Q की खूबियों सबसे अहम फीचर सिक्योरिटी का है। यूजर्स का इस फीचर के जरिए अपनी फोन की ऐप्स पर ज्यादा कंट्रोल होता है। इस ऑप्शन के तहत जब यूजर ऐप को इस्तेमाल करेगा तब ही ऐप लोकेशन को ट्रैक कर पाएगी। वहीं, जब ऐप यूज में नहीं होगी तो लोकेशन भी ट्रैक नहीं होगी। हालांकि, यह फीचर सिर्फ लोकेशन शेयरिंग का ही नहीं है बल्कि यह ऐप्स पर पहले से ज्यादा कंट्रोल करने में मदद करेगा। कंपनी का कहना है कि Android Q वर्जन उसके प्रोजेक्ट Strobe का एक हिस्सा है। इसके तहत यूजर्स को हर ऐप को अलग-अलग लोकेशन एक्सेस देने की जरुरत नहीं होगी।

फोल्डेबल स्मार्टफोन सपोर्ट:

Android Q को फोल्डेबल स्मार्टफोन का सपोर्ट दिया गया है। कंपनी ने इस अपडेट में स्पिलट स्क्रीन को बेहतर किया है जिससे फोल्डेबल स्मार्टफोन को बेहतर तरह से इस्तेमाल किया जा सके। Google के मुताबिक, कंपनी फोल्डेबल डिस्प्ले को सपोर्ट करने वाली ऐप्स को बनाने के लिए डेवलपर्स को सपोर्ट करेगी। इसमें onResume और onPause फंक्शन्स भी मौजूद हैं जो मल्टी-रिज्यूम को सपोर्ट करता है। इसमें दिया गया Android Emulator मल्टी-डिस्प्ले टाइप्स को सपोर्ट करता है।

शेयरिंग शॉर्टकट्स:

Android Q में इस फीचर के तहत शेयरिंग आसान हो जाती है। इसके चलते यूजर्स कॉन्टेंट शेयर करने के लिए एक ऐप से दूसरी ऐप पर सीधे जा पाएंगे। यह पहले से कहीं ज्यादा तेज दूसरी ऐप पर जंप करने में सक्षम है। यह फीचर एप शॉर्टकट्स की तरह ही काम करता है। ऐसे में Google, ShortcutInfo API को बढ़ा रही है जिससे इंटीग्रेशन को आसान किया जा सके। यह API प्री-Android Q डिवाइसेज को डायरेक्ट शेयर का विकल्प उपलब्ध कराती हैं।

कनेक्टिविटी:

Google ने इस अपडेट में नए वाई-फाई स्टैंडर्ड सपोर्ट, WP3 और OWE का सपोर्ट दिया है। इससे होम और वर्क नेटवर्क्स के लिए सिक्योरिटी को बेहतर किया जा सकेगा। Android Q के साथ हाई परफॉर्मेंस WiFi मोड दिया जाएगा और लेटेंसी कम की जाएगी। इससे गेमिंग और कॉलिंग की परफॉर्मेंस पहले से बेहतर हो सकेगी।

कैमरा, मीडिया और ग्राफिक्स:

Android Q में ऐप्स डायनेमिक डेप्थ इमेजेज के लिए रिक्वेस्ट कर सकते हैं। इससे ऐप्स में स्पेशेलाइज्ड ब्लर और बोकेह इफेक्ट ऑफर किया सकेगा। Google ने कहा है कि डाटा को 3D इमेज बनाने या AR फोटोग्राफी को सपोर्ट करने के लिए भी भविष्य में इस्तेमाल किया जा सकेगा। आपको बता दें कि डायनेमिक डेप्थ एक ओपन फॉर्मेट है जो मैन्यूफैक्चर्सस के साथ काम करता है जिससे इसे ज्यादा से ज्यादा डिवाइसेज में उपलब्ध कराया जा सके। Android Q में नए ऑडियो और वीडियो कोडेक्स का सपोर्ट दिया गया है।

थीम्स:

एंड्रॉइड पुलिस के मुताबिक, Android Q के डेवेलपर सेटिंग्स में थीमिंग ऑप्शन्स दिए गए हैं। इसमें यूजर्स अलग-अलग कलर का चुनाव कर सकते हैं। इसके अलावा हेडलाइन और बॉडी फॉन्ट्स भी चुन सकते हैं। इसके साथ ही आइकॉन्स की शेप भी बदल सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

Google Chrome को हिंदी या किसी अन्य भाषा में इस्तेमाल करने के लिए फॉलो करें ये स्टेप्स

अपने स्मार्टफोन को साइबर अटैक से बचाने के लिए ध्यान रखें ये जरूरी बातें

Tata Sky और Airtel Digital TV पर आसानी से कर पाएंगे चैनल सेलेक्ट, अपनाएं ये स्टेप्स

Posted By: Shilpa Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप