नई दिल्ली। मोदी सरकार द्वारा 500,1000 के नोट बंद करने का चौकानें वाला फैसला लिया गया है। यूँ तो कालेधन के संदर्भ में ये सरकार का एक अहम फैसला हो सकता है। लेकिन इस फैसले का असर आम जनता के साथ ही ई-कॉमर्स कंपनियों पर भी देखनें को मिल रहा है। आपको बता दें इस फैसले से ऑनलाइन शॉपिंग सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाली है। भारत में मौजूद महत्वपूर्ण ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों ने कैश की दिक्कत से बचने के लिए एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है| ऐसा माना जा रहा है की इसका प्रभाव उपभोक्ताओं और कंपनी दोनों को पड़ेगा|

हुआ कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प बंद:

ऑनलाइन शॉपिंग पर इस फैसले का क्या और कैसे प्रभाव पड़ने वाला है, उसका पहला उदाहरण ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल्स द्वारा लिया गया निर्णय है| सरकार के इस फैसले के बाद ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल्स फ्लिपकार्ट, अमेजन और स्नैपडील ने कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प बंद कर दिया है। कंपनी इस सेवा को कब तक बंद रखेगी इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं दी गई है। तो अगर आपने हाल फिलहाल ऑनलाइन कुछ आर्डर किया है तो या तो अपने आर्डर को आगे की किसी तारीख पर मंगवा लें या आर्डर कैंसिल कर दें|

ऐसी खबर है की फिलहाल कुछ दिनों तक तो कंपनी इस सेवा को बंद ही रखेगी। अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करना चाहते है तो आपको कार्ड द्वारा ही पेमेंट करना होगा। उम्मीद जताई जा सकती है कि कंपनी इसे जल्द ही दोबारा से शुरु कर सकती है।

यह भी पढ़े,

मोदी बने ब्रैंड इमेज, रिलाइंस जिओ के बाद पेटीएम ने अपने एड में छपवाई पीएम की तस्वीर

एयरटेल इंटरनेट पैक हो गया है खत्म, इस तरह बिल्कुल मुफ्त में पाएं 1.2जीबी डाटा

यूट्यूब पर बिना लॉगइन किए ऐसे देख सकते हैं प्रतिबंधित वीडियोज

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस