Move to Jagran APP

Twitter के पूर्व CEO पराग अग्रवाल समेत इन अधिकारियों ने किया Elon Musk पर केस, जानें क्या है पूरा मामला

ट्विटर के पूर्व सीईओ पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) की वजह से एलन मस्क की मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही हैं। दरअसल एलन मस्क के खिलाफ पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) सहित चार पूर्व शीर्ष अधिकारियों ने केस किया है। दरअसल यह पूरा मामला साल 2022 में ट्विटर अधिग्रहण से जुड़ा है। मस्क ने ट्विटर का मालिक बनने के साथ ही कई अधिकारियों को कंपनी से बाहर कर दिया था।

By Agency Edited By: Shivani Kotnala Published: Tue, 05 Mar 2024 10:15 AM (IST)Updated: Tue, 05 Mar 2024 10:15 AM (IST)
Elon Musk के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा, जानें क्या है पूरा मामला

एजेंसी, नई दिल्ली। ट्विटर के पूर्व सीईओ पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) की वजह से एलन मस्क की मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही हैं। दरअसल, एलन मस्क के खिलाफ पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) सहित चार पूर्व शीर्ष अधिकारियों ने 128 मिलियन डॉलर से ज्यादा का केस किया है।

मस्क के खिलाफ केस करने वाले लोगों में ट्विटर के पूर्व चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर नेड सेगल, पूर्व लीगल चीफ ऑफिसर विजया गड्डे (Vijaya Gadde), और पूर्व जनरल काउंसिल सीन एडगेट के नाम हैं।

क्यों दर्ज हुआ मस्क पर मुकदमा

मस्क पर केस करने के पीछे उन पर पूर्व अधिकारियों को बिना किसी कारण कंपनी से बाहर निकाल दिए जाने के आरोप लगे हैं। मस्क को लेकर कहा गया है कि उन पर 128 मिलियन अमेरिकी डॉलर का भुगतान बकाया है।

साल 2022 में मस्क ने किया था ट्विटर का अधिग्रहण

दरअसल, 44 बिलियन अमेरिकी डॉलर का भुगतान करने के बाद मस्क ने कंपनी के मुख्य कार्यकारी पराग अग्रवाल को बर्खास्त कर दिया था और ट्वटिर का अधिग्रहण कर लिया था।

पराग के साथ कई दूसरे अधिकारियों को कंपनी से बाहर किया गया था। बाद में मस्क ने प्लेटफॉर्म का नाम बदल कर एक्स (X Handle) कर दिया था।

कैलिफोर्निया के उत्तरी जिले के लिए अमेरिकी जिला न्यायालय में दर्ज किया गया है। द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस पद के लिए अग्रवाल के प्रस्ताव पत्र में कहा गया था कि उन्हें 12.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर के शेयरों के अलावा 1 मिलियन अमेरिकी डॉलर का वार्षिक वेतन मिलेगा।

ये भी पढ़ेंः Elon Musk ने OpenAI पर किया केस, AI को लेकर सीईओ Sam Altman पर एग्रीमेंट तोड़ने का लगाया आरोप

मस्क को देने होंगे पूर्व अधिकारियों के पैसे

ट्विटर सिक्योरिटीज फाइलिंग के अनुसार, अग्रवाल टर्मिनेशन के मामले में 60 मिलियन अमेरिकी डॉलर के तथाकथित गोल्डन पैराशूट भुगतान के हकदार थे।

दस्तावेज के अनुसार, समान परिस्थितियों में सेगल को USD46 मिलियन और गैड्डे को USD21 मिलियन प्राप्त होंगे।

मस्क का दावा है कि वे कंपनी अधिग्रहण के दौरान अधिकारियों को बिना भुगतान किए किसी कारण के लिए बाहर कर सकते हैं।

खुद को लगभग 200 मिलियन अमेरिकी डॉलर भुगतान से बचाने के लिए, मस्क ने अपने जीवनी लेखक वाल्टर इसाकसन को सूचित किया कि वह अधिकारियों के विच्छेद लाभों (severance benefits) को अस्वीकार कर देंगे।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.