नई दिल्ली (टेक डेस्क)। इंटरनेट के इस युग में अक्सर हम फ्री वाईफाई का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं। इसका मुख्य कारण वाईफाई में मिलने वाली स्पीड मोबाइल डाटा के जरिए मिलने वाली स्पीड से तेज होती है। इन दिनों रेलवे स्टेशन हो या शॉपिंग मॉल हर जगह आपको पब्लिक वाईफाई मिल जाएगा। इन पब्लिक वाईफाई की सेवा फ्री होती है। लेकिन, क्या आप जानते हैं इन पब्लिक वाईफाई की फ्री सेवा लेना आपके लिए भारी भी पड़ सकता है। अगर हैकर ने पब्लिक वाईफाई के जरिए आपका स्मार्टफोन हैक कर लिया तो उनके पास आपकी सारी जानकारी पहुंच सकती है। आपक हर एक एक्ट्विटी को हैकर ट्रैक कर सकते हैं।

कई बार हैकर्स वाईफाई को ओपन छोड़ कर इसे बेट की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। बिना पासवर्ड के आप जैसे ही वाईफाई को कनेक्ट करके इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो हैकर आपके डिवाइस का मैक अड्रेस और आईपी अड्रेस राउटर में दर्ज कर लेते हैं। हैकर्स सबसे पहले स्निफिंग टूल का यूज करके ट्रैफिक को इंटरसेप्ट करते हैं। डाटा पैकेट्स के रूप में ट्रांसफर होता है और हैकर्स के पास कई तरह टूल होते हैं जो इन पैकेट्स को इंटरसेप्ट करके आपकी ब्राउजिंग हिस्ट्री तो आसानी से जान सकते हैं।

हैकर्स नेटवर्क स्निफिंग के जरिए जितने विजिबल ट्रैफिक होते हैं आसानी से इंटरसेप्ट कर लेते हैं। इसके लिए हैकर्स आमतौर पर वायरशार्क पैकेट स्निफर टूक का इस्तेमाल करते हैं। वाईफाई हैक करना इससे कनेक्टेड डिवाइस से हैक करने के मुकाबले काफी आसान है। हैकर्स इंटरनेट पर मौजूद फ्री टूल्स का इस्तेमाल करके कम सिक्योरिटी वाले राउटर को हैक कर लेते हैं। इसके अलावा कई एडवांस्ड टूल्स भी हैं जो बैकट्रैक पर काम करते हैं जिनका इस्तेमाल करके हाइली सिक्योरिटी वाले वाईफाई राउटर को भी हैक किया जा सकता है।

सबसे आसान उन राउटर को हैक करना होता है जिनमें WEP सिक्योरिटी होते हैं। पहले के राउटर्स में लोग WEP रखते थे, लेकिन अब डिफॉल्ट बदल दिया गया है। WPA-PSK keys से सिक्योर किए गए राउटर्स को हैक करना थोड़ा मुश्किल होता है, लेकिन इसे भी हैक किया जा सकता है। आम तौर पर लोग वाईफाई राउटर का पासवर्ड डिफॉल्ट छोड़ देते हैं और हैकर्स के लिए काम आसान कर देते हैं। वो इसे ऐक्सेस करके ना सिर्फ आपका वाईफाई हैक करते हैं, बल्कि उससे कनेक्टेड डिवाइस पर भी नजर रखते हैं। हम आपको ऐेसे आसान तरीके बताने जा रहे हैं जिसके जरिए आप अपने वाईफाई राउटर से अनवॉन्टेड डिवाइस के ब्लॉक कर सकते हैं।

  • इसके लिए सबसे पहले आपको अपना मोबाइल कनेक्ट करना होगा। इसके बाद आपको गूगल प्ले स्टोर से Fing नाम के थर्ड पार्टी ऐप को डाउनलोड और इंस्टॉल कर लें। यह ऐप आपको एप्पल के ऐप स्टोर पर भी उपलब्ध है।
  • इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद इसे आप ओपन करें।
  • वहां आपको होम स्क्रीन पर वाईफाई कनेक्टिविटी दिखाई देगा। इसमें रिफ्रेश और सेटिंग के ऑप्शन दिखाई देंगे, रिफ्रेश पर क्लिक करते ही आपको वाईफाई से कनेक्ट हुए तमाम डिवाइस की लिस्ट दिखेंगे।
  • इस लिस्ट से यह भी पता चलेगा कि यह डिवाइस कोई मोबाइल है या लैपटॉप।
  • इस ऐप के जरिए आप कनेक्टेड डिवाइस का मैक एड्रेस भी देख सकते हैं। जिस डिवाइस को राउटर से ब्लॉक करना है, उसे कॉपी कर लें। इस ऐप के जरिए आप वेबसाइट और नेटवर्क की पिंग मॉनिटरिंग भी कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

Idea ने रिलायंस Jio को चुनौती देने के लिए उतारा नया प्लान, मिलेगा 164GB डाटा का लाभ

Vivo Y95 4030mAh बैटरी और 20MP सेल्फी कैमरे के साथ भारत में लॉन्च

Airtel के इन 10 स्मार्ट रिचार्ज पैक्स में मिलेगा फुल टॉक टाइम और लंबी वैलिडिटी का लाभ 

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप