नई दिल्ली, अनुराग मिश्र। मौजूदा समय में हर कोई वाई-फाई जोन में रहता है। ऐसे में इस बात का ख्याल ही नहीं रहता कि कभी हमें बिना इंटरनेट के ई-मेल एक्सेस करने की जरूरत भी पड़ सकती है। जबकि कई बार ऐसे पल आते हैं, जब हमें बिना इंटरनेट के ई-मेल एक्सेस करने पड़ जाते हैं। ऐसे में भले ही हम नए मैसेज एक्सेस न कर पाएं, पर कम से कम अपने पुराने मैसेज को तो देख ही सकते हैं।

आईआईटी से पढ़ीं और आईटी मामलों की जानकार साक्षी सिंह ने कहा कि अपने सारे ई-मेल खोना आपके हाथ कट जाने जैसा है। वहीं, इंटरनेट न होने पर मैसेज देखने की जरूरत भी आपको बैचेन कर सकती है। इसलिए शुरुआत से ही तकनीकी पक्षों को गौर कर तैयार रहना चाहिए, वरना ऐन मौके पर यह आपके लिए काफी कष्टकारी साबित हो सकता है।

मेल बैकअप करने के काफी तरीके हैं। इंटरनेट पर कई क्लाउड बेस्ड सर्विस हैं। इन पर आप अपने मेल के मैटर को स्टोर कर सकते हैं। इसके अलावा, आप अपने कंप्यूटर, लैपटॉप में थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करके बैकअप रख सकते हैं। इनमें से कुछ खास तरीकों का जिक्र हम यहां आपसे करने जा रहे हैं-

ई-मेल बैकअप

ई-मेल बैकअप करने के कई तरीके होते हैं, जैसे आप बैकअपफाई (Backupify) और गूगल टेकआउट सर्विस का इस्तेमाल अपने आर्काइव डाटा को डाउनलोड करने के लिए कर सकते हैं। हालांकि, रेगुलर ऑफलाइन बैकअप के लिए आप डेस्कटॉप ई-मेल क्लाइंट जैसे थंडरबर्ड का प्रयोग कर सकते हैं। इसे एक बार रन करा दें, तो यह आपके ई-मेल अकाउंट के सारे मैसेज डाउनलोड कर देगा। ऐसे में अगर आप कभी इंटरनेट एक्सेस न प्राप्त कर सकें तो आप अपने मैसेज को देख सकते हैं। आप थंडरबर्ड को डाउनलोड कर लें और इसे किसी अन्य अप्लीकेशन की तरह इस्तेमाल कर लें। यह विंडोज, मैकोस और लाइनेक्स में उपलब्ध है। जब आप इसे स्टार्ट करेंगे तो यह आपके ई-मेल अकाउंट का यूजरनेम और पासवर्ड मांगेगा।

साक्षी सिंह ने बताया कि अगर आप जीमेल या आउटलुक का इस्तेमाल करते हैं तो यह आपके लिए सही सेटिंग पहचान लेगा, वरना आपको मैनुअल कांफिग बटन को क्लिक करना होगा और नंबर को पोर्ट करना होगा। आप इन्हें वेबमेल सर्विस के हेल्प सेक्शन में देख सकते हैं। जब आप थंडरबर्ड को अपने अकाउंट से जोड़ते हैं तो यह आपके मैसेज को डाउनलोड करने लगता है। यह कुछ समय ले सकता है।

ई-मेल अकाउंट की सेटिंग के दौरान आपको आईएमएपी औऱ पीओपी की जरूरत होगी। अगर आप टू फैक्टर ऑथैंटिकेशन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको एप स्पेसिफिक पासवर्ड अपनी वेबमेल सेटिंग में जेनरेट करना पड़ेगा। आईएमएपी औऱ पीओपी के विकल्प में से आपको आईएमएपी चुननी चाहिए। थंडरबर्ड डाउनलोड करने के बाद मैसेज डिलीट न कर दें, इसके लिए आपको सर्वर सेटिंग में जाकर अनचेकिंग को क्लिक करना होगा, जिसमें आप को अनटिल आई डिलीट का विकल्प आएगा।

साक्षी ने बताया कि ईमेल से ज्यादा आपके लैपटॉप से डाटा खोने का डर रहता है, ऐसे में सी ड्राइव में यूजर/एप डाटा/रोमिंग/थंडरबर्ड फोल्डर को रेगुलर बैकअप में जोड़े। ऐसे में आपकी हार्डड्राइव फेल होने पर भी आप बैकअप पा सकते हैं।

जीमेल में आपको सेटिंग्स टैब में ऑफलाइन का ऑप्शन दिखाई देगा, जिस पर आपको क्लिक करना होगा। अगर आपके क्रोम ब्राउसर में जी-मेल का ऑफलाइन एक्सटेंशन इंस्टॉल नहीं होगा तो यह आपको एक्सटेंशन इंस्टॉल करने के लिए कहेगा। एक्सटेंशन इंस्टॉल करने के बाद ही आप इस ऑफलाइन मोड को एक्टिवेट कर सकेंगे। ऑफलाइन टैब में जाकर आपको अब इनेबल ऑफलाइन ई-मेल ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑफलाइन ई-मेल इनेबल करने के बाद आपको कितने ई-मेल ऑफलाइन में चाहिए, वो चुनना होगा। इसके अलावा, आप कितने दिन पुराना ई-मेल ऑफलाइन मोड में रखना चाहेंगे, इसका भी चुनाव करना होगा।

ऐसे भी लें जीमेल का बैकअप

-मेल का बैकअप लेने के लिए आपका जीमेल पर अकाउंट होना जरूरी है। सबसे पहले अपनी जीमेल आईडी लॉगइन कर लें।

जीमेल लॉगिन करने के बाद आपको सेटिंग्स के ऑप्शन पर जाना होगा।

सेटिंग्स पे क्लिक करने के बाद आपको अकाउंट एंड इंपोर्ट पर क्लिक करना होगा। इसे क्लिक करते ही एक नया टैब खुलेगा।

-इसके बाद आपको अपनी वह जीमेल आईडी डालनी है, जिसका आप बैकअप लेना चाहते हैं।

अब आपका सारा मेल बैकअप हो जायेगा। 

Posted By: Vineet Sharan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस