नई दिल्ली, टेक डेस्क। बु्ल्ली बाई (Bulli Bai) ऐप इन दिनों काफी चर्चा में है। जहां कथित तौर पर मुस्लिम महिलाओं को टारगेट करके अपमानित किया जाता है। ऐसा आरोप है कि बुल्ली बाई ऐप पर मुस्लिम महिलाओं के सोशल मीडिया हैंडल से फोटो को डाउनलोड करके नीलामी के लिए पोस्ट किया जाता है और फिर लोगों को मुस्लिम महिलाओं की नीलामी के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इसी तरह Sulli Deal ऐप के जरिए एक मामला सामने आया था। बुल्ली बाई एक एप्लीकेशन है, जिसे Github API पर होस्ट किया जाता है। इस ऐप के जरिए कथित तौर पर मुस्लिम महिलाओं की सौदेबाजी होती है।

कौन होस्ट कर रहा था ऐप 

रिपोर्ट के मुताबिक बुल्ली बाई ऐप सिख फोर्स (KSF) समुदाय की ओर से संचालित ओपन सोर्स ऐप है। इस ऐप को Bullibai.github.io पर होस्ट किया गया था। जिसे केंद्र सरकार के दखल के बाद हटा लिया गया है। बता दें कि शनिवार रात इंफॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी मिनिस्टर अश्विनी वैष्णव ने कहा कि बुल्ली बाई के अकाउंट को ब्लॉक कर दिया गया है साथ ही बुल्ली बाई ऐप के ट्वीटर अकाउंट को भी ब्लॉक कर दिया गया है। और मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। Github की ओर से भी आज सुबह बुल्ली बाई ऐप को ब्लॉक करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि आगे की कार्रवाई के लिए CERT और पुलिस विभाग को जिम्मेदारी दी गई है।

जानिए क्या था Sulli Deal मामला 

बता दें कि इसी तरह का एक मामला 4 जुलाई 2021 को सामने आया था। जब Github प्लेटफॉर्म से Sulli Deals ऐप को होस्ट किया गया था। इसकी टैग लाइन थी - Suli Deal of the day. जहां मुस्लिम महिलाओं की फोटो को पोस्ट किया गया था। बता दें कि सुल्ली एक अपमान जनक शब्द है, जिसे मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ इस्तेमाल किया जाता रहा है।

Edited By: Saurabh Verma