नई दिल्ली, अध्यात्मिक डेस्क | Vrishabh Rashi ke Upay: ज्योतिष शास्त्र में वृषभ राशि को द्वितीय राशि के रूप में जाना जाता है। जिन लोगों का नाम ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे या वो अक्षर से शुरू होता है, उनकी राशि वृषभ है। ज्योतिष विज्ञान में बताया गया है कि जीवन में कई बार ग्रहों की दशा के कारण व्यक्ति को समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिससे आर्थिक, स्वास्थ्य व निजी क्षेत्र में कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। ऐसे में वृषभ राशि के जातकों को भाग्योदय और ग्रहों के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए ज्योतिष के कुछ अचूक उपायों का पालन करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से वृषभ राशि के जातक जीवन में आ रही सभी समस्याएं दूर कर सकते हैं। आइए जानते हैं-

वृषभ राशि के उपाय

  • ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि वृषभ राशि के जातक समस्याओं को दूर करने के लिए शनिवार के दिन पीपल के पेड़ का स्पर्श करते हुए परिक्रमा करें। साथ ही इस दिन उन्हें पीपल वृक्ष के नीचे पुष्प अर्पित करना चाहिए। ऐसा करने से समस्याएं दूर हो जाती हैं।

  • वृषभ राशि के जातक भाग्योदय के लिए शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के नीचे तिल के तेल में दीपक जलाएं और जरूरतमंदों को इमरती, उड़द की दाल या दही बाटें। साथ ही शनिवार का व्रत जातकों के लिए बहुत ही फलदाई साबित हो सकता है।

  • जीवन में आ रही समस्याओं को दूर करने के लिए वृषभ राशि के जातक प्रत्येक शनिवार के दिन हनुमान चालीसा अथवा सुंदर कांड का पाठ जरूर करें। साथ ही वह काले या नीले वस्त्र धारण न करें। ऐसा करना जातकों के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसके साथ वृषभ राशि के जातकों को अपने चाचा या अन्य सगे संबंधियों से अच्छे व्यवहार रखने चाहिए।

  • ज्योतिष विद्वानों की सलाह लेने के बाद वृषभ राशि के जातक मध्यमा उंगली में नीलम या काले घोड़े की नाल का छल्ला धारण करें। ऐसा करने से धन और वैभव की प्राप्ति होती है और कई प्रकार के ग्रह दोष से मुक्ति मिल जाती है। ज्योतिष शास्त्र में यह भी बताया गया है कि नीलम रत्न धारण करने से आर्थिक व मानसिक रूप से फायदा मिलता है और व्यक्ति को कार्य क्षेत्र में भी उन्नति प्राप्त होती है।

डिसक्लेमर- इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Edited By: Shantanoo Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट