नई दिल्ली, Rahu Dosh Upay: कुंडली में राहु-केतु दोष का होना व्यक्ति के जीवन में कई समस्याएं उत्पन्न होती है। राहु और केतु को छाया ग्रह कहा जाता है। माना जाता है कि जब किसी की कुंडली राहु केतु की छाया होने से बनते काम बिगड़ने लगते हैं। इसके साथ ही राहु कमजोर स्थिति में है या विवाह घर में विराजमान होता है। तब शादी में देरी हो सकती है। ज्योतिष शास्त्र में राहु के दोष को समाप्त करने के कई उपाय बताए गए हैं। आइए जानते हैं कि राहु दोष को कम करने के उपायों के बारे में।

राहु दोष को दूर करने के उपाय

काले तिल से करें शिवजी का अभिषेक

कुंडली में राहु के दोष को कम करने के लिए भगवान शिव और श्री हरि विष्णु की पूजा करना चाहिए। इसके साथ ही नियमित रूप से शनिवार और सोमवार के दिन जल में थोड़े से काले तिल डालकर शिवलिंग पर अभिषेक करें। इससे राहु और केतु का प्रभाव कम होगा।

राहु मंत्र का करें जाप

रोजाना सुबह स्नान आदि करने के बाद राहु के मंत्र का 108 बार जाप करें। मंत्र- ऊँ रां राहवे नम:

कुश डालकर करें स्नान

कुंडली से राहु दोष को कम करने के लिए रोजाना नहाने वाले पानी में थोड़ा सा कुश डालकर स्नान करें।

इन चीजों को करें जल में प्रवाहित

रात को एक सूप में नीला वस्त्र, काले तिल, कंबल, सूप, तेल से भरा ताम्रपत्र, लोहा, सप्त अनाज, अभ्रक, गोमेद, खड्ग आदि रख दें। इसके बाद एक कपड़े से बांधकर जल में प्रवाहित कर दें।

काले कुत्ते को खिलाएं रोटी

बुधवार के आरंभ करके अगले 7 दिनों में काले कुत्ते को मीठी रोटी खिलाएं।

पीपल की पूजा

शनिवार के दिन सुबह के समय पीपल की जड़ में जल चढ़ाएं और शाम को पीपल के जड़ के पास घी का दीपक जलाएं। इससे भी राहु की पीड़ा कम होगी।

पहनें ये रत्न

राहु दोष को कम करने के लिए गोमेद रत्न पहन सकते हैं। इसे पहनने से पहले ज्योतिष से जरूर सलाह लें।

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Edited By: Shivani Singh