ये रेशमी जुल्फे…आपके बारे में बहुत कुछ बताती हैं। सिर्फ आपकी सेहत के बारे में ही नहीं बल्कि आपकी किस्मत के बारे में भी खोलते हैं राज, ये बाल। अपने बालों से कैसे जानें अपना भविष्य, आइए देखते हैं। ज्योतिष के वैदिक ग्रंथों के अनुसार जिस मनुष्य के सिर में एक जड़ में से एक बाल निकलें वो शुभ होता है। ऐसे बाल किस्मत वालों के होते हैं। लेकिन यदि एक बाल में से कई बाल निकलते हों तो जातक की शक्ति को कम करते हैं। ऐसे जातक दो विचारधाराओं के मध्य उलझे रहते हैं। किसी निर्णय तक नहीं पहुंच पाते जिससे सफलता नहीं मिलती।

वहीं, यदि आपके बाल पतले हैं तो ये आपके किस्मत को चमकाने के काम करते हैं। ऐसे लोग दयावान, सम्पत्तिवान और भाग्यशाली होते हैं। यदि आपके बाल मोटे हैं तो आपको दूसरों से बचकर रहना चाहिए। ऐसे बालों वाले जातकों के मित्र धोखा दे सकते हैं। परंतु ऐसे बालों वाले लोगों में उत्तम स्वास्थ्य एवं उच्च जीवनशक्ति होती है।

ज्योतिषाचार्य साक्षी शर्मा के अनुसार, सूर्य एक ऐसा ग्रह है जो आपकी कुंडली में केंद्र या त्रिकोण से संबंध बनाकर, आपको असमय गंजापन तक दे सकता है। सूर्य देव की खराबी बालों को बेजान बनाती है। ऐसा होने पर सूर्य देव को ठीक करने के लिए आप प्रातःकाल जल अर्पित कर सकते हैं। साथ ही आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ लाभकारी सिद्ध होता है।

बुध देव की खराबी के चलते भी बालों को खासा नुकसान पहुंचता है। यदि किसी कारणवश बुधदेव खराब हैं तो डैंड्रफ की समस्या हो सकती है। बाल भी बेजान हो जाते हैं। ऐसे में बालो को नियमित आंवला तेल से मालिश करें अथवा नीम का पेस्ट बनाकर बुधवार को जरूर लगाएं, लाभ होगा।

चंद्रमा के कारण यदि बालों में समस्या हो तो बाल पतले और कमजोर हो जाते हैं। इसके लिए सावन के माह में शिवलिंग का अभिषेक दूध और चावल से बनी खीर से करें, लाभ होगा।

अत्यधिक सख्त बाल वाले लोगों पर मंगल का प्रभाव देखा जाता है। यदि आपके बाल कंघी में उलझते हैं तो आपको जटामांसी का तेल लाभ देगा। इससे आपकी सफलता के नए रास्ते खुलेंगे। साथ ही आप मंगलवार को गरीबों को भोजन करा सकते हैं।

शास्त्र के अनुसार, कमजोर शुक्र भी बालों का स्वरुप बिगाड़ देता है। ऐसे में व्यक्ति तनावग्रस्त हो जाता है और इसी के परिणामस्वरूप उसे बाल टूटने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। इसलिए सबसे पहले शुक्र को मजबूत किया जाना चाहिए। इस समस्या के समाधान हेतु आप शुक्रवार के दिन मंदिर में चावल और दूध का दान कर सकते हैं।

राहुदेव भी बालों की दशा बनाते और बिगाड़ते हैं जिनके बाल 23-27 साल की उम्र के बीच गिरने शुरू हुए हैं उनको राहु के उपाय लाभ देंगे।

जिनके बाल 28-36 साल की उम्र के बीच गिरने शुरू हुए हैं वो मंगलवार को बच्चों को बेसन की मिठाई दें।

जिनके बाल 37-45 साल की उम्र के बीच गिरने शुरू हुए हैं वे शनिवार को “ऊँ रां राहवे नमः” का जाप करें।

 

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस