नई दिल्ली, Durva Ke Upay: हिंदू धर्म में दूर्वा को काफी पवित्र माना जाता है। भगवान गणेश की पूजा करते समय दूर्वा चढ़ाने का विशेष महत्व है। माना जाता है कि गणपति जी की पूजा दूर्वा के बिना अधूरा है। मान्यताओं के अनुसार, गणपति जी को दूर्वा चढ़ाने से वह जल्द प्रसन्न होते हैं और जातक के हर कष्ट हो हर लेते हैं। लेकिन दूर्वा से कुछ उपाय करके जातक अपनी इच्छा को पूरा करने के साथ हर समस्या से छुटकारा मिल जाता है।

दूर्वा से करें ये ज्योतिष उपाय

पैसों की तंगी

अधिक आमदनी होने के बावजूद पैसा नहीं बच रहा है, तो भगवान गणेश और माता लक्ष्मी को किस शुभ मुहूर्त या फिर हर मास की चतुर्थी के दिन पांच दूर्वा में 11 गांठ चढ़ा दें। इससे लाभ मिलेगा।

कामना पूर्ति के लिए

अगर कोई व्यक्ति अपनी हर इच्छा को पूर्ण करना चाहते हैं, तो दूर्वा को गाय के दूध में मिलाकर लेप बनाएं। इसके बाद इसे तिलक के रूप में माथे में रोजाना लगाएं। इससे लाभ मिलेगा।  

धन लाभ के लिए

बुधवार के दिन भगवान गणेश जी को 11 या फिर 21 गांठ दूर्वा चढ़ा दें। ऐसा करने से भगवान गणेश की कृपा बनी रहेगी और धन लाभ भी होगा।

बुध दोष से मुक्ति के लिए

अगर कुंडली में बुध की स्थिति कमजोर है तो बुधवार के दिन भगवान गणेश को दूर्वा घास चढ़ाएं। इससे लाभ मिलेगा और बुध दोष से भी मुक्ति मिल जाएगी।

घर में सुख-शांति

घर में सुख-शांति बनाए रखने के लिए रोजाना या बुधवार के दिन गाय को दूर्वा खिलाएं। इससे गाय माता के साथ गणपति जी की भी कृपा बनी रहेगी।

इस तरह गणपति जी को चढ़ाएं दूर्वा

गणपति बप्पा को प्रसन्न करने सुबह के समय स्नान आदि करने के बाद पूजा आरंभ करें। सबसे पहले गणेश जी को दूर्वा अर्पित करें। दूर्वा भगवान गणेश के मस्तक पर रखना चाहिए।  इस बात का ध्यान रखें कि गणेश जी के चरणों में दूर्वा नहीं रखें। इससे व्यक्ति को फल नहीं मिलता है।

Pic Credit- instagram/_jadevine15_

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।' 

Edited By: Shivani Singh