नई दिल्ली, Basant Panchami 2023 Vivah Muhurat: पंचांग के अनुसार, माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का पर्व मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार, इस दिन मां सरस्वती का जन्म हुआ था। इसी के कारण इस दिन मां सरस्वती की विधिवत पूजा करने का विधान है। इसके साथ ही इस दिन से बसंत ऋतु की भी शुरुआत हो जाती है। पंचांग के अनुसार, बसंत पंचमी को अबूझ मुहूर्त माना जाता है। इस दिन शुभ और मांगलिक कार्य करना अच्छा होता है। जानिए बसंत पंचमी में विवाह, मुंडन, छेदन सहित किन कामों को करना होगा शुभ। 

Basant Panchami 2023: बसंत पंचमी पर मां सरस्वती की पाना चाहते हैं कृपा, तो जान लें पूजा और हवन सामग्री

विवाह

बसंत पंचमी एक ऐसा दिन है जिसमें मुहूर्त नहीं देखा जाता है। क्योंकि इस दिन अबूझ मुहूर्त होते है। इसलिए बसंत पंचमी के दिन विवाह, सगाई, तिलक या फिर रिश्ता  पक्का करना शुभ माना जाता है। 26 जनवरी को सुबह 7 बजकर 15 मिनट से 27 जनवरी को 7 बजकर 15 मिनट तक है।

मुंडन

बसंत पंचमी के दिन मुंडन,छेदन, जनेऊ जैसे शुभ काम करना अच्छा माना जाता है। इस दिन मुंडन करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। इस दिन मुंडन के समय बच्चे को पीले रंग के वस्त्र धारण कराना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से बच्चे की बौद्धिक क्षमता का विकास होता है।

गृह प्रवेश

गृह प्रवेश के लिए बसंत पंचमी का दिन काफी शुभ माना जाता है। इस दिन सुबह 7 बजकर 15 मिनट से 10 बजकर 28 मिनट तक सबसे शुभ योग है। लेकिन बसंत पंचमी का पूरे दिन में आप कभी भी गृह प्रवेश कर सकते हैं।

विद्यारंभ संस्कार

बसंत पंचमी के दिन विद्यारंभ संस्कार करने का सबसे अच्छा दिन है। विद्यारंभ संस्कार में सबसे पहले भगवान गणेश, गुरु जी, मां सरस्वती और अपने इष्ट देव की पूजा की जाती है। इसके बाद बच्चा लिखना और पढ़ना आरंभ कर देता है।

नए काम की शुरुआत

बसंत पंचमी को नए काम यानी नौकरी, बिजनेस या फिर किसी जगह पर निवेश करना शुभ माना जाता है। बसंत पंचमी के दिन इन कार्यों को शुरू करने से अधिक सफलता हासिल होती है। 

Pic Credit- Freepik

डिसक्लेमर- इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Edited By: Shivani Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट