हर आयुध से सुरक्षित हैं हनुमान

रुद्रा अवतार हनुमान जी पूजा से सभी देवी देवता अत्‍यंत प्रसन्‍न होते हैं। हर देव ने उन्‍हें विभिन्‍न आयुधों से सुरक्षित होने का आर्शिवाद भी दिया है। इसके साथ ही उन्‍हें अमरत्‍व का वरदान भी प्राप्‍त है। इसीलिए मंगलवार के दिन बजरंगबली की पूजा करके आप हरेक देवता को अपने पक्ष में कर सकते हैं। यम के प्रिय होने के कारण उन्‍हें यमदंड से अभयदान प्राप्‍त है, कुबेर के आशीष से वे गदाघात से अप्रभावित रहते हैं। शिवांश होने के कारण भगवान शंकर के प्रिय हनुमान शूल एवं पाशुपत आदि अस्त्रों से रक्षा पा कर तो अवध्‍य थे ही देव शिल्‍पी विश्‍वकर्मा ने भी उनको को शेष बचे हुए आयुधों से सुरक्षित रहने का वरदान दिया था। 

ऐसे करें हनुमान जी की पूजा 

हिन्दू मान्‍यताओं के अनुसार मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। इस दिन प्रात: स्नान आदि के बाद हनुमान जी की मूर्ति या प्रतिमा को गंगाजल से पवित्र करना चाहिए। हनुमान जी की पूजा के लिए लाल रंग के फूल और घी या तिल के तेल के दीपक को उपयोग में लाना चाहिए। दीपक प्रज्‍जवलित के बाद आरती, हनुमान चालीसा या बजरंग बाण का पाठ करना लाभप्रद हो सकता है। अंत में भगवान को भोग लगाना चाहिए। 

 

Posted By: Molly Seth