Move to Jagran APP

Shukra Nakshatra Parivartan: शुक्र देव जल्द अश्लेषा नक्षत्र में करेंगे गोचर, इन 3 राशियों के जातक होंगे मालामाल

कुंडली में शुक्र कमजोर होने पर जातक को नाना प्रकार के संकटों से गुजरना पड़ता है। ज्योतिष कुंडली में शुक्र (Shukra Nakshtra Parivartan) मजबूत करने के लिए भगवान शिव की पूजा करने की सलाह देते हैं। भगवान शिव की पूजा करने से कुंडली में शुक्र मजबूत होता है। शुक्र मजबूत होने पर जातक को सभी प्रकार के सुखों की प्राप्त होती है।

By Pravin KumarEdited By: Pravin KumarThu, 11 Jul 2024 04:08 PM (IST)
Shukra Nakshatra Parivartan: शुक्र देव जल्द अश्लेषा नक्षत्र में करेंगे गोचर, इन 3 राशियों के जातक होंगे मालामाल
Shukra Nakshatra Parivartan: शुक्र देव करेंगे सिंह राशि में गोचर ?

धर्म डेस्क, नई दिल्ली। Shukra Gochar 2024: सुखों के कारक शुक्र देव वर्तमान समय में कर्क राशि में विराजमान हैं। इस राशि में शुक्र देव 31 जुलाई तक रहेंगे। वहीं, सूर्य देव भी आने वाले दिनों में कर्क राशि में गोचर करेंगे। जबकि, बुध देव कर्क राशि में उपस्थित हैं। इसके चलते सूर्य संक्रांति पर बुधादित्य योग का निर्माण होगा। इससे कई राशि के जातकों लाभान्वित होंगे। वहीं, बुध ग्रह के सिंह राशि में गोचर करने के बाद शुक्र देव नक्षत्र परिवर्तन करेंगे।

यह भी पढ़ें: 29 मार्च को न्याय के देवता करेंगे राशि परिवर्तन, इन 3 राशियों को शनि बाधा से मिलेगी मुक्ति

शुक्र ग्रह राशि परिवर्तन (Shukra Nakshatra Parivartan)

सुखों के कारक शुक्र देव 20 जुलाई को भारतीय समयानुसार शाम 06 बजकर 10 मिनट पर अश्लेषा नक्षत्र में गोचर करेंगे। इस नक्षत्र में शुक्र देव 30 जुलाई तक रहेंगे। इसके अगले दिन यानी 31 जुलाई को दोपहर 02 बजकर 41 मिनट पर शुक्र देव मघा नक्षत्र में गोचर करेंगे। कुल मिलाकर शुक्र देव 11 दिनों के लिए अश्लेषा नक्षत्र में रहेंगे। वहीं, 31 जुलाई को शुक्र देव कर्क राशि से निकलकर सिंह राशि में गोचर करेंगे।

कर्क राशि

शुक्र देव के अश्लेषा (Venus Transit Positive Effects) नक्षत्र में गोचर करने से कर्क राशि के जातकों को विशेष लाभ प्राप्त होगा। इस नक्षत्र की राशि कर्क है। अश्लेषा नक्षत्र के स्वामी ग्रहों के राजकुमार बुध देव हैं। अत: कर्क राशि के जातकों को शुक्र के नक्षत्र परिवर्तन से लाभ होगा। ज्योतिषियों की मानें तो जुलाई के महीने में कर्क राशि के जातकों का भाग्योदय होगा। इस माह शुक्र, सूर्य और बुध सभी ग्रह कर्क राशि में विराजमान रहेंगे। इससे कर्क राशि के जातकों को सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होगी।

मिथुन राशि

बुध देव के राशि परिवर्तन यानी कर्क राशि में गोचर करने से मिथुन राशि के जातकों को धन लाभ हो सकता है। अश्लेषा नक्षत्र और मिथुन राशि के स्वामी ग्रहों के राजकुमार बुध देव हैं। इस राशि के जातकों पर बुध देव की विशेष कृपा बरसेगी। इससे कारोबार में तेजी देखने को मिल सकती है। शुभ कार्य के लिए 17 जुलाई तक उत्तम मुहूर्त है।

कन्या राशि

कन्या राशि के जातकों के लिए भी शुक्र देव का नक्षत्र परिवर्तन शुभ रहने वाला है। इस राशि के जातकों के स्वामी भी ग्रहों के राजकुमार बुध देव हैं। सावन के महीने में कन्या राशि के जातकों को कोई शुभ समाचार मिल सकता है। साथ ही सभी बिगड़े काम बन जाएंगे। केतु के गोचर के चलते जातक के स्वभाव में अंतर देखने को मिल सकता है। जातक को सलाह दी जाती है कि भावनाओं में बहकर कोई फैसले न लें।

यह भी पढ़ें: राहु-केतु के गोचर से 4 राशियों की बदलेगी किस्मत, दूर होंगे सभी दुख और कष्ट

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए उपाय/लाभ/सलाह और कथन केवल सामान्य सूचना के लिए हैं। दैनिक जागरण तथा जागरण न्यू मीडिया यहां इस लेख फीचर में लिखी गई बातों का समर्थन नहीं करता है। इस लेख में निहित जानकारी विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों/दंतकथाओं से संग्रहित की गई हैं। पाठकों से अनुरोध है कि लेख को अंतिम सत्य अथवा दावा न मानें एवं अपने विवेक का उपयोग करें। दैनिक जागरण तथा जागरण न्यू मीडिया अंधविश्वास के खिलाफ है।