जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। कोरोना गाइडलाइन की पालना सख्ती से कराने को लेकर सरकार ने निर्देश दे रखे हैं, लेकिन फिर भी कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। कोरोना के बढ़ते केसों और लोगों की लापरवाही को देखते हुए सरकार सख्ती करने पर विचार कर रही है। चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा ने बुधवार को जयपुर में मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि हम कोशिश करेंगे कि लोग जल्द से जल्द वैक्सीन की दोनों डोज लगवा लें। अगर लोग डोज नहीं लगवाते हैं तो सरकार इसे अनिवार्य करेगी। किसी न किसी सरकारी योजना से वैक्सीनेशन को जोड़ देंगे या फिर सरकारी योजनाओं का फायदा रोक देंगे। वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगवाने वालों को सरकारी योजनाओं का फायदा नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस महामारी में दुनिया में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई है। अब भी अगर लापरवाही बरतेंगे तो यह उचित नहीं होगा।

इस मौके पर परसादी लाल मीणा ने कहा कि पहली और दूसरी डोज लेने वालों के बीच गैप (अंतर) काफी बढ़ गया है। जिन लोगों के पहली डोज लग गई, दूसरी डोज का समय निकल गया। उनके घरों पर टीम भेजकर वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई जाएगी। इसके साथ ही जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को कार्यक्रम तय कर के देंगे कि उन्हें हर कीमत पर वैक्सीनेशन का लक्ष्य तय करना है। जयपुर के एक निजी स्कूल में मंगलवार को 12 बच्चों के कोरोना संक्रमित मिलने के मामले में मीणा ने कहा कि स्कूल को लेकर कोई परेशानी नहीं है। जो भी परेशानी है, वह हास्टल को लेकर है। सरकार सभी जिला कलेक्टर और उपखंड अधिकारियों को निर्देश दे रही है कि वह सभी हास्टल की जांच कर कोविड गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करें। उल्लेखनीय है कि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के एक्टिस केसों की संख्या 150 तक पहुंच गई है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra