जयपुर, जागरण संवाददाता। जयपुर में दो समुदायों के बीच रविवार रात से भड़का विवाद मंगलवार देर रात फिर हिंसा में बदल गया। रात करीब 11 बजे रावलजी चौराहे और 11:20 बजे बदनपुरा में दोनों पक्ष फिर से आमने-सामने आ गए। एक समुदाय विशेष द्वारा किए गए पथराव ने माहौल को तनावपूर्ण बना दिया है। पथराव और टकराव के बाद शहर के 15 पुलिस थाना इलाकों में धारा-144 लागू करने के साथ ही इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है। इससे पहले सोमवार रात को भी कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया था ।

उल्लेखनीय है कि रविवार को चार दरवाजा के पास शिव मंदिर में कांवड़ चढ़ा रहे लोगों पर कुछ लोगों ने पथराव कर दिया था। इसके बाद से क्षेत्र में तनाव हो गया। सोमवार रात को यह उग्र हो गया। भीड़ को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे गए। पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात किया गया। मंगलवार को दिनभर शांति रही और लेकिन रात को फिर तनाव बढ़ा तो शहर के संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है । पुलिस के अनुसार मंगलवार देर रात करीब 11 बजे करीब एक समुदाय विशेष के करीब दो सौ लोग गंगापोल इलाके में एकत्रित होकर दूसरे पक्ष की तरफ बढ़े तो दोनों के बीच टकराव बढ़ गया।

तनाव के बीच पथराव और मारपीट हुई । उपद्रवियों ने मंगलवार देर रात 30 से अधिक वाहनों में तोड़फोड़ की । मंगलवार रात हुए पथराव में 10 लोग घायल हो गए। पुलिस के कई जवान भी पथराव में घायल हो गए । इस मामले में पुलिस ने अब तक छह लोगों को गिरफ्तार करने के साथ ही 60 लोगों के खिलाफ नामजद एफआइआर दर्ज की है । कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है ।

इससे पहले मंगलवार दिन में उपद्रवियों ने गलता गेट क्षेत्र में एक धाíमक स्थल पर पथराव किया था। हालांकि, इसमें जनहानि नहीं हुई। पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि कई पुलिस थाना इलाके में धारा 144 लगाई गई है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इंटरनेट पर भी रोक लगाई गई है।

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप