Move to Jagran APP

Rajasthan: अवैध संबंधों के मामले में युवक को पेड़ से बांधकर मारपीट की, बाल काटे, पेशाब पिलाया

अवैध संबंधों के मामले में युवक को पेड़ से बांधकर मारपीट कीबाल काटे पेशाब पिलाया -समाज के पंचों ने कराया दोनों पक्षों में समझौता

By Preeti jhaEdited By: Published: Fri, 31 Jul 2020 02:29 PM (IST)Updated: Fri, 31 Jul 2020 02:29 PM (IST)
Rajasthan: अवैध संबंधों के मामले में युवक को पेड़ से बांधकर मारपीट की, बाल काटे, पेशाब पिलाया

जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान के सीमावर्ती बाड़मेर जिले के कोनारा गांव में अवैध संबंधों के मामले में एक युवक को पेड़ से बांधकर मारपीट करने, बाल काटने व जबरन पेशाब पिलाने का मामला सामने आया है। यह मामला 28 जुलाई का बताया जा रहा है, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर शुक्रवार को वायरल हुआ। जिस युवक के साथ मारपीट व पेशाब पिलाने की घटना हुई वह पास के ही गांव का रहने वाला है।

बाड़मेर पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि चौहटन थानाधिकारी पेमाराम ने गश्त के दौरान सोशल मीडिया पर वीडियो देखा। इस वीडियो में कुछ लोग एक युवक को पेड़ से बांध कर बाल काटते व मारपीट करते हुए दिखाई दिए। पेड़ से बंधे युवक की पहचान मोगावां बाखासर निवासी भूपत राम के रूप में की गई है। जांच में सामने आया कि युवक के पास के की कोनरा गांव की एक महिला के साथ अवैध संबंध थे। युवक पिछले दिनों रात में इस महिला के घर रूका था। इस बात की जानकारी गांव के लोगों को मिली तो वे नाराज हो गए। अगले दिन सुबह 28 जुलाई को ग्रामीणों ने युवक को महिला के घर से बाहर निकाला और उसे पेड़ से बांध दिया। इस दौरान उसके बाल काटने के साथ ही उसे जबरन पेशाब भी पिलाया गया। ग्रामीणों ने युवक के साथ मारपीट भी की।

पुलिस थाना अधिकारी ने इस संबंध में युवक से संपर्क कर मामला दर्ज कराने के लिए कहा तो उसने इंकार कर दिया। पुलिस ने ग्रामीणों से भी बात की तो वे भी युवक के खिलाफ मामला दर्ज कराने को तैयार नहीं हुए। दोनों पक्षों ने कहा कि समाज के पंचों ने मिल बैठकर दोनों पक्षों के बीच समझौता करा दिया। इस पर पुलिस ने वायरल हुए वीडियो के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जांच अधिकारी पुलिस उप अधीक्षक अजीत सिंह ने बताया कि दोनो पक्ष भील जाति के हैं। घटना घटित हुई थी उनमें दोनो पक्ष कोई मुकदमा दर्ज नहीं करवाना चाह रहे हैं। यह मामला तीन दिन पुराना हैं। दो दिन तक दोनो पक्षों के बीच में पंचायती चल रही थी उसके बाद दोनो ने आपस में कोई मुकदमा दर्ज न करवाने का निर्णय किया। पुलिस ने स्वयं मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की है। 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.