जयपर, जागरण संवाददाता। Rajasthan News: राजस्थान में करौली जिले के मेदपुरागांव में सोमवार को मिट्टी का टीला (ढ़ेर) ढहने से दबकर छह लोगों की मौत हो गई। मृतकों में तीन महिलाएं और तीन युवतियां शामिल है। तीन महिलाएं इस हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गई। घायलों को करौली के जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती करवाया गया है।

घटना की सूचना मिलने पर जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक नारायण टोगस सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे । मिट्टी के ढेर से तीन महिलाओं को सुरक्षित बाहर निकाला गया। मिट्टी के नीचे दबी महिलाओं एवं युवतियों को बाहर निकालने के काम में सरकारी कर्मचारियों के साथ ग्रामीण भी जुटे।

ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार सपोटरा उपखंड के मेदपुरा गांव की दस से ज्यादा महिलाएं और युवतियां दीपावली पर घर की लिपाई-पुताई के लिए कुछ दूर मिट्टी लेने के लिए गई थी।

इस दौरान मिट्टी खोदते समय मिट्टी का बड़ा टीला उन पर आ गिरा और वह दब गई। महिलाओं और युवतियों के मिट्टी में दबते ही मौके पर चीख पुकार मच गई और बड़ी संख्या में आसपास के लोग मौके पर जमा हो गए। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद मलबे को हटाकर नौ महिलाओं और युवतियों को बाहर बाहर निकाला। इनमें से छह की मौत हो गई। मृतकों में स्थानीय नागरिक राजेश माली की पत्नी अनीता (22),गोपाल माली की पत्नी रामनरी (28),चिरंजी लाल की पत्नी केशनती (29), खुशबू, कोमल और अंजू शामिल हैं।

यह भी पढ़ें- Madhya Pradesh: MP में हुक्का बार और लाउंज पूरी तरह से बंद, नशा मुक्ति अभियान के तहत सरकार का बड़ा कदम

पुलिस के अनुसार अभी भी कुछ महिलाओं के मिट्टी में दबे होने की आशंका है। ऐसे में उनकी तलाश के लिए अभियान चलाया जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मृतकों के प्रति संवेदना जताते हुए घटना की जांच के आदेश दिए हैं। मृतकों के स्वजनों को मुआवजा दिए जाने को लेकर कलक्टर ने आश्वासन दिया है। जानकारी के अनुसार दो दिन पहले गांव में हुई तेज बारिश के कारण टीला गिला था। जिससे थोड़ी खुदाई करने पर ही मिट्टी ढह गई।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट