उदयपुर, संवाद सूत्र। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) ने चित्तौड़गढ़ में पकड़े गए अलसूफा आतंकी संगठन के 11 आतंकियों के खिलाफ जयपुर की अदालत में चालान पेश किया है। एनआईए की जांच में कई चौंकाने वाले तथ्य भी सामने आए हैं, जिसमें बताया गया कि आतंकियों की साजिश जयपुर दहलाने की थी। सभी आतंकी इसी साल 30 अप्रेल को चित्तौड़गढ़ जिले के निम्बाहेड़ा कस्बे में पकड़े गए और उनकी कार से भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री पकड़ी गई थी।

बड़ी आतंकवादी घटना को देने वाले थे अंजाम

एनआईए की पेश चार्जशीट में बताया गया कि पकड़े गए आरोपित प्रदेश में विशेषकर राजधानी जयपुर में बड़ी आतंकवादी घटना को अंजाम देने वाले थे। जिसकी साजिश इमरान खान ने रची, जबकि बाकी आरोपितों को उसे सहयोग करना था।

एनआईए ने जयपुर स्थित एनआईए कोर्ट में अलसूफा आतंकी संगठन के 11 आतंकियों के खिलाफ चार्जशीट बड़ी बारीकी के साथ पेश की। जिसमें बताया गया कि पकड़े गए सभी आतंकी आईएसआईएस की विचारधारा और गतिविधियों से प्रेरित हैं। पेश आतंकियों में इमरान खान के अलावा उसे सहयोग करने वाले आकिफ अतीक, अमीन खान, मोहम्मद अमीन पटेल, सैफुल्लाह खान, अल्तमश खान, जुबेर खान, मजहर खान, फिरोज खान, मोहम्मद यूनुस साकी और एक अन्य इमरान भी शामिल है। इन तमाम आतंकियों ने आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने और आतंक फैलाने के लिए हथियार, गोला, बारूद व विस्फोटक सामग्री तैयार की।

आतंकी इमरान खान देता था सहयोगी आतंकियों को प्रशिक्षण

एनआईए ने पेश चार्जशीट में इस बात का उल्लेख किया है कि आतंकियों में मुख्य साजिशकर्ता इमरान खान ही अपने सहयोगियों को आतंकी गतिविधियों के साथ आईईडी बनाने और उसे असेंबल करने का प्रशिक्षण देता था। उसी के निर्देश पर साथी आतंकी स्थानीय बाजार से केमिकल और अन्य सामग्री खरीद कर लाए. जिनका प्रयोग कर विस्फोटक व आईईडी तैयार किए।

12 किलो विस्फोटक पदार्थ के साथ गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि इसी साल 30 मार्च को चित्तौड़गढ़ के निंबाहेड़ा में सदर थाना पुलिस ने नाकाबंदी के दौरान मध्यप्रदेश कार से आतंकी जुबेर, अल्तमश और सैफुल्लाह को 12 किलो विस्फोटक पदार्थ के साथ गिरफ्तार किया था।

ये आतंकी इस विस्फोटक को जयपुर ले जा रहे थे और उन्हें यह विस्फोटक जयपुर से दस किलोमीटर पहले जमीन में गाड़ना था। बाद में उनकी अपने आकाओं के मिलने वाले दिशा-निर्देश के अनुसार जयपुर दहलाने की साजिश थी। जांच में पता चला कि इन आतंकियों के तार अलसूफा आतंकी संगठन से जुड़े हुए थे।

इसके बाद मध्यप्रदेश एटीएस ने राजस्थान एटीएस के साथ चलाए संयुक्त अभियान में अलसूफा आतंकी संगठन के मुख्य सरगना इमरान खान को भी गिरफ्तार कर लिया था। जिसके फार्म हाउस से भ्तीन बोरों में भरी हुई संदिग्ध सामग्री बरामद हुई थी। इसके बाद अन्य आतंकी भी पकड़े गए। मामला आतंकी संगठन और राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा होने के चलते इसकी जांच एनआईए ने अपने हाथों में ली थी।

Edited By: Priti Jha