जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है। प्रदेश में मंगलवार को 236 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। वहीं 2 पीड़ित की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक 7536 संक्रमित मिले हैं। वहीं 170 पीड़ितों की मौत हुई है। 4165 रिकवर हो चुके हैंं। इनमें से 3092 लोगों को डिस्चार्ज भी किया जा चुका है। अब राज्य में सिर्फ 3143 एक्टिव केस बचे हैं।

33 में से 32 जिलों में पहुंचा कोरोना

प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा 1860 केस जयपुर में हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1278,अजमेर में 309,अलवर में 51,बाड़मेर में 91,बांसवाड़ा में 85,बांरा में 5,भरतपुर में 143,भीलवाड़ा में 122,बीकानेर में 85,चित्तोडगढ़ में 174,चूरू में 85,दौसा में 45,धौलपुर में 43,डूंगरपुर में 331,गंगानगर में 2,हनुमानगढ़ में 14,जैसलमेर में 68,जालौर में 154,झालावाड़ में 71,झुंझुनूं में 96,करौली में 10,कोटा में 396,नागौर में 404,पाली में 360,प्रतापगढ़ में 13,राजसमंद में 126,सवाईमाधोपुर में 19,सीकर में 143,सिरोही में 139,टोंक में 159,उदयपुर में 517 व जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 12 लोग पॉजिटिव मिले। ईरान से एयरलिफ्ट कर लाए गए 61 पॉजिटिव मिले थे ।

सबसे ज्यादा मौत जयपुर में

प्रदेश में कोरोना से अब तक 168 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 84 (जिसमें चार यूपी से) की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 17, कोटा में 16, अजमेर, पाली और नागौर में 6-6, भरतपुर में 5, चित्तौड़गढ़ और सीकर में 4-4, बीकानेर में 3, जालौर, करौली, अलवर और भीलवाड़ा 2-2, उदयपुर, बांसवाड़ा, चूरू, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए तीन व्यक्ति की भी मौत हुई है।

बोर्ड परीक्षाओं की नई तिथियों की घोषणा इसी सप्ताह

कोरोना लॉकडाउन के चलते स्थगित हुई राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की दसवीं और 12वीं की शेष परीक्षाओं की नई तिथियां इसी सप्ताह घोषित हो सकती है। सरकार परीक्षा तिथि तय करने को लेकर गंभीरता पूर्वक मंथन में जुटी है और इसी सप्ताह निर्णय सामने आ सकता है। इससे प्रदेश के 20 लाख विद्यार्थियों को राहत मिलेगी। प्रदेश के चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने बताया कि राज्य में जांच क्षमता इस माह के अंत तक राज्य 25 हजार की जाएगी। प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेशो अन्य राज्यों की तुलना में काफी बेहतर है। बाहर से आने वाले हर व्यक्ति के लिए 14 दिनों के होम या इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन अनिवार्य किया हुआ है, ताकि बाहर से आने वाले व्यक्ति संक्रमण ना फैल सके। जो व्यक्ति बिजनेस के सिलसिले में या छोटे-मोटे काम के लिए राज्य में आ रहे हैं वे भी आरटी-पीसीआर टेस्ट कराकर आएं या फिर यहां टेस्ट के नेगेटिव आने के बाद ही लोगों के बीच में जाएं।

 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस