उदयपुर, जागरण संवाददाता। Kanhaiyalal Murder Case: देश भर में चर्चित रहे उदयपुर के कन्हैयालाल हत्याकांड के मुख्य गवाह राजकुमार शर्मा (50) को ब्रेन हेमरेज हो गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उसके उपचार के लिए जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल से चिकित्सकों की टीम को ग्रीन कॉरीडोर बनाकर उदयपुर भेजा है।

मुख्यमंत्री ने उदयपुर के जिला कलक्टर तथा डॉक्टर्स से बात कर उसका पूरा इलाज करवाने को कहा है। उदयपुर के जिला प्रभारी एवं राजस्व मंत्री रामलाल जाट अस्पताल पहुंचे तथा उसके स्वास्थ्य तथा उपचार के बारे में जानकारी ली।

बताया गया कि सोमवार दोपहर राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज हुआ। जिसके बाद उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। जयपुर से रवाना डॉ. मनीष अग्रवाल और डॉ. राशिम कटारिया सोमवार देर रात उदयपुर पहुंच जाएंगे। बताया जा रहा है कि आर्थिक तंगहाली में होने से राजकुमार 2 महीनों से मानसिक रूप से परेशान चल रहा था और वह अपनी बेटी की शादी को लेकर भी चिंतिंत था।

कन्हैयालाल हत्याकांड से वह अपने घर पर ही थे और सोमवार सुबह अचानक उनकी तबियत बिगड़ी तो एमबी अस्पताल लाया गया। ब्रेनहेम की जानकारी मिलते ही प्रभारी मंत्री रामलाल जाट और जिला कलक्टर ताराचंद मीणा अस्पताल पहुंचे। दोनों ने न्यूरोलॉजी यूनिट के डॉक्टर्स से मिले। राजुकमार की रिवकरी को लेकर हाल जाना। सुपर स्पेशिलिटी विंग के आईसीयू में भर्ती राजकुमार शर्मा के पास कड़ी सुरक्षा व्यवस्था भी की गई है।

कन्हैया की हत्या के वक्त राजकुमार दुकान पर था

उल्लेखनीय है कि राजकुमार 8 साल से कन्हैयालाल की मालदास स्ट्रीट स्थित सुप्रीम टेलर्स पर काम करता था। वह कपड़े सिलने का काम करता था। हमले के समय 28 जून को राजकुमार और ईश्वर कन्हैया के साथ मौजूद थे। इसी दौरान बीच-बचाव में हमलावरों ने उन पर भी हमला करने का प्रयास किया था। हालांकि राजकुमार को ज्यादा चोटें नहीं आई।

यह भी पढ़ें- Indian Airforce का 22 साल बाद सपना पूरा, मिली 'प्रचंड' ताकत, राजनाथ ने गिनाईं खूबियां, लंबी है लिस्ट

सदमे में परिवार, तीन महीने बाद बेटी की शादी, नहीं मिली आर्थिक सहायता

कन्हैयालाल की हत्या के बाद से राजकुमार का पूरा परिवार सदमे में है। 3 महीने बाद बेटी की शादी होनी है। वो कन्हैया की दुकान के साथ ही रात में ऑनलाइन फूड डिलीवरी का काम करते थे। इस केस के बाद वह अपने घर से नहीं निकल पाया और उसके परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो गई थी।

राजकुमार की पत्नी पुष्पा का कहना है कि पुलिस गवाह बनने के बाद भी उनके पति को किसी तरह की आर्थिक सहायता नहीं मिली। लंबे समय से उनके पति आर्थिक तंगहाली में थे। बार-बार वे बेटी शादी की चिंता करते थे। कमाई को कोई जरिया नहीं होने से परेशान हो गए थे। उनके एक बेटा और बेटी है।

यह भी पढ़ें- Rajasthan News: सीएम अशोक गहलोत बोले- सरकार बदलने के साथ ही बंद हो जाती है योजनाएं और दर्ज होते हैं मुकदमे

Edited By: Vinay Kumar Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट