राजस्थान, आनलाइन डेस्क। LCH Prachand News: भारतीय वायुसेना के बेड़े में सोमवार को एलसीएच (हल्का लड़ाकू विमान) शामिल हो गया। इस विमान के बेड़े में शामिल हो जाने से सेना की शक्ति में बढ़ोतरी होगी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह(Defence Minister Rajnath Singh) ने इसे जोधपुर एयरबेस(Jodhpur Airbase) पर देश को समर्पित किया। अब ये विमान एलसीएच प्रचंड नाम से जाना जाएगा।

ये कोई साधारण विमान नहीं है, इसकी अपनी कई सारी खूबियां है जो इसको खास बनाती है और सेना की ताकत में इजाफा करती है। इंडियन एयरफोर्स (Indian Airforce)की ओर से 22 साल पहले ऐसे एक लड़ाकू विमान का सपना देखा गया था जो अब पूरा हो गया। इस मौेके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह(Rajnath Singh) ने कहा कि एलसीएच को नवरात्र से अच्छा समय और राजस्थान की धरती से अच्छी जगह नहीं हो सकती है। वीरों की धरती से नवरात्रि में इसकी शुरुआत हुई। सारी शक्ति का बड़ा सूचक है एलसीएच।

उन्होंने कहा कि देश की स्वदेशी तकनीक पर गर्व है। एलसीएच को लेकर बोले विजय रथ तैयार है। सारी चुनौतियों पर एलसीएच खरा उतरा है। यह दुश्मनों को आसानी से चकमा दे सकता है। अधिकारियों ने बताया कि एलसीएच ‘एडवांस लाइट हेलिकॉप्टर’ ध्रुव से समानता रखता है।

ये है खूबियां इस प्रचंड हेलीकॉप्टर में

  • करीब 3885 करोड़ रुपए की लागत से बने 15 एलसीएच फौज में शामिल किये गए हैं।
  • तीन एलसीएच बेंगलुरु से जोधपुर पहुंच चुके है। बाकी 7 हेलिकॉप्टर भी अगले कुछ दिन में यहां पहुंच जाएंगे।
  • इस स्क्वाड्रन के लिए एयरफोर्स के 15 पायलट्स को ट्रेनिंग दी गई है।
  • रडार को चकमा देकर कई मिसाइलें दागने में सक्षम है प्रचंड।
  • इस हेलीकॉप्टर को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने विकसित किया है। इसमें कई तरह की मिसाइलें और हथ‍ियार इसमें लगाए जा सकते हैं। इसमें अनगाइडेड बम और ग्रेनेड लॉन्चर लगाए जा सकते हैं।
  • लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर एक बार में लगातार 3 घंटे 10 मिनट उड़ सकता है।
  • यह अधिकतम 6500 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है।
  • यह अधिकतम 268 किमी प्रतिघंटा की गति से उड़ान भर सकता है।
  • इसकी रेंज की बात करें तो यह 550 किलोमीटर हैं।
  • इस हेलीकॉप्टर की लंबाई 51.10 फीट और ऊंचाई 15.5 फीट है।
  • महत्वपूर्ण तथ्य यह भी है कि इसमें राडार से बचने की विशेषता, बख्तर सुरक्षा प्रणाली, रात को हमला करने और आपात स्थिति में सुरक्षित उतरने की क्षमता है।
  • प्रचंड 21000 फ़ीट ऊंचाई तक उड़ने में सक्षम भी है।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट