जयपुर, जेएनएन। राजस्थान के 65 हजार सरकारी स्कूलों में बच्चों को संविधान का पाठ पढ़ाया जाएगा ।  इसकी शुरूआत गणतंत्र दिवस से होगी। प्रदेश के शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि 65 हजार प्राथमिक एवं माध्यमिक सरकारी स्कूलों में प्रार्थना के समय प्रतिदिन संविधान की उद्देशिका पढ़ी जाएगी । उन्होंने बताया कि बच्चों को संविधान की मूल भावना से परिचय कराने के लिए सरकार ने यह निर्णय लिया है ।

महाराष्ट्र में प्रतिदिन, मध्यप्रदेश में शनिवार एवं छत्तीसगढ़ में सोमवार को संविधान की उद्देशिका पढ़ाना अनिवार्य है। डोटासरा ने आरोप लगाया कि जब से केंद्र में मोदी सरकार सत्ता में आई है तब से लगातार असंवैधानिक फैसले किये जा रहे हैं। देश में नफरत का माहौल बना दिया गया है. भारत जैसे सहिष्णु देश में ऐसा माहौल बने रहना बहुत ही खतरनाक है. इसलिए हमारी सरकार ने बच्चों में संविधान के प्रति आस्था बढ़ाने और सहिष्णु समाज का निर्माण करने के मकसद से स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना पढ़ाना तय किया है।

मुंबई के बांद्रा में तेज रफ़तार कार का कहर, ऑटो में मारी टक्कर; चालक का हुआ बुरा हाल

26 जनवरी से इसकी शुरुआत होगी ताकि आज के बच्चे कल के बेहतरीन नागरिक बनें, उनमें हर धर्म का सम्मान करने की भावना हो । उल्लेखनीय है अशोक गहलोत सरकार के सत्ता में आने के बाद से स्कूली शिक्षा में कई अहम बदलाव किए गए हैं। कांग्रेस सरकार ने स्कूली शिक्षा में पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार की ओर से लागू किए गए कई फैसलों को बदल दिया है । 

 शनिदेव ने 29 वर्ष बाद इस राशि में किया प्रवेश, जानें साढ़ेसाती का प्रभाव अौर बचने के उपाय

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस