उदयपुर, संवाद सूत्र। राजस्थान में उदयपुर शहर के पर्यटक स्थलों में शामिल बड़ी झील की पाल पर पर्यटक युगल से लूटपाट की घटना सामने आई है। लूट की शिकार युवती द्वारा बनाया गया वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस को इसका पता चला और चार बदमाशों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। पुलिस पूछताछ में पता चला कि वह पिछले एक साल में सात पर्यटक युगलों से इस तरह की वारदात कर चुके हैं लेकिन पहला मामला है जो पुलिस के सामने आया। उदयपुर निवासी ऋत्विक रूणवाल पिछले दिनों अपनी महिला मित्र के साथ बड़ी झील के समीप गोरेला गांव की ओर घूमने गए थे। लौटते समय वह बड़ी पाल पर भ्रमण करने पहुंचे तभी दो बाइक पर आए बदमाशों ने चाकू की नोक पर उनसे लूटपाट की।

बदमाशों ने युगल से चार हजार रुपये नगद, युवती के सोने के जेवरात तथा घड़ी आदि सामान लूट लिया और कार की चाबी लेकर फरार हो गए। इस घटना का युवती ने वीडियो बना लिया था और उसे वायरल कर दिया। अगले दिन पुलिस को इस घटना का पता चला। लोगों की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद पुलिस सक्रिय हुई और वीडियो के आधार पर बदमाशों की तलाश शुरू की। पुलिस ने इस मामले में उदयपुर की रूपनगर कच्ची बस्ती निवासी लाला पुत्र रामू कालबेलिया, राहुल पुत्र अंबालाल मेघवाल को चित्तौड़गढ़ जिले में कपासन के जंगल से गिरफ्तार किया, जबकि उनके दो साथी सोनू पुत्र आजाद और आफताब उर्फ भय्यू पुत्र इकबाल को उदयपुर से पकड़ा।

अभी तक सात युगलों को लूट चुके, पहला मामला पुलिस के सामने आया।

लूट के आरोपितों से पूछताछ की गई तो चौंकाने वाली जानकारी सामने आई। उन्होंने बताया पिछले एक साल से छह दोस्त मिलकर पर्यटकों से लूटपाट कर रहे हैं। एक साल में वह सात युगलों को लूट चुके हैं, लेकिन पहला मामला है जो पुलिस के सामने आया। वह लूट के लिए ऐसे युगलों को चुनते जो अविवाहित होते। लूटपाट के दौरान कभी किसी को शारीरिक नुकसान नहीं पहुंचाते और युगल बदनामी के डर से मामला दर्ज नहीं कराते। इस बार युवती के वीडियो बनाने से पुलिस उन तक पहुंच पाई। पुलिस अब उनके दो अन्य दोस्तों की तलाश में जुटी है।

पुलिस ने शुरू किया ऑपरेशन क्लीन सिटी अभियान

इस मामले में उदयपुर के पुलिस अधीक्षक का कहना है कि पर्यटक स्थलों पर पुलिस की सुरक्षा बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा कि हमने हेल्पलाइन नंबर जारी किए थे, ताकि पर्यटन स्थलों के आस-पास वीरान जगहों पर संभावित वारदातें टाली जा सकें। जिला पुलिस ने बदमाशों के खिलाफ ऑपरेशन क्लीन सिटी अभियान भी शुरू कर दिया। इसके तहत शहर के पर्यटन स्थलों, झीलों और वीरान जगहों पर फोकस रहेगा, जहां शहरवासियों और पर्यटकों की आवाजाही रहती है।

राज्य में बिगड़ रहा है लॉ एंड ऑर्डर, मुख्यमंत्री नहीं छोड़ पा रहे गृहमंत्री पद का मोहः गुलाबचंद कटारिया

इस घटना को लेकर राज्य के नेता प्रतिपक्ष व पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया का कहना है कि उदयपुर ही नहीं, प्रदेश भर में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति खराब होती जा रही है। अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री गृह मंत्रालय का मोह नहीं छोड़ पा रहे। राज्य में अलग से गृहमंत्री की जरूरत है।

पर्यटन उद्योग पहले ही पिटा हुआ, ऐसी वारदातें से उबर नहीं पाएगाः अर्जुनलाल मीणा

उदयपुर सांसद अर्जुनलाल मीणा का कहना है कि कोरोना महामारी के चलते पर्यटन उद्योग पहले से ही पिटा हुआ है। इसे उबरने की प्रतीक्षा की जा रही है, लेकिन पर्यटन स्थलों पर आपराधिक वारदातें से इसके उबरने पर शंका है। उन्होंने कहा कि उदयपुर पुलिस प्रशासन अपराधियों पर काबू पाने में विफल रहा है। उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा भी कहते हैं कि शहर ही नहीं, ग्रामीण इलाकों में हालात बदतर हैं। मंगलवार रात ऋषभदेव क्षेत्र में एक सरपंच परिवार सहित भजन संध्या से लौट रहा था और कुछ बदमाशों से उसे लूट लिया।

Edited By: Sachin Kumar Mishra