धर्मबीर सिंह मल्हार, तरनतारन : 71 वर्ष से सिख कौम द्वारा की जा रही अरदास पूरी होने का समय आ गया है। अब सिख कौम पाक स्थित गुरुधामों के खुले दर्शन दीदार कर सकेगी। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कॉरिडोर के मामले पर जो फैसला लिया गया है वह सराहनीय है। यह कहना है विभिन्न नेताओं का।

भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष जसवंत सिंह पड्डा कहते हैं कि मोदी सरकार ने श्री करतापुर साहिब कॉरिडोर के लिए कैबिनेट में ऐतिहासिक फैसला लेते सिख कौम का सम्मान किया है। शिअद के उपाध्यक्ष रमनदीप सिंह भरोवाल कहते हैं कि 84 के दंगों के आरोपितों को सजा दिलाने लिए बनाई गई सिट की रिपोर्ट के नतीजे सामने हैं और कॉरिडोर के मामले पर देश की मोदी सरकार का सिख कौम बाबत सम्मान भी सबके सामने है। एसएस बोर्ड के पूर्व सदस्य इकबाल सिंह संधू ने कहा कि श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का फैसला प्रशंसनीय कदम है। जबकि पाकिस्तान की इमरान खान की सरकार ने भी दुनिया भर के सिखों का गौरव बढ़ाया है। शिअद नेता बलजीत सिंह गिल ने कहा कि देश के उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू द्वारा गुरदासपुर जिले के कस्बा डेरा बाबा नानक के गांव मान को कॉरिडोर बनाने के लिए जो सम्मान दिया जा रहा है उसकी दुनिया भर में प्रशंसा हो रही है।

एडवोकेट नवजोत कौर चब्बा का कहना है कि 71 वर्ष से सिख कौम द्वारा जो अरदास की जा रही थी उस पर बाबे नानक की मेहर हुई है। हमें चाहिए कि श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के मामले पर सियासत करने की बजाए गुरु जी के धन्यवाद में श्री अखंड पाठ साहिब और धार्मिक समागम करवाएं। महिला कांग्रेस की जिला अध्यक्ष अनीता वर्मा ने कहा कि प्रदेश की कैप्टन अमरेंद्र सिंह की सरकार द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के 550 वें प्रकाश पर्व को लेकर जो समागम शुरु किए हैं। वह साल भर चलेंगे इन समागमों में हमें शामिल हो कर गुरु साहिबान का ओट आसरा लेना चाहिए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!