लहरागागा (संगरूर), जेएनएन। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) से निलंबित करने के नोटिस को पूर्व वित्त मंत्री परमिंदर सिंह ढींडसा ने पार्टी द्वारा अन्‍याय करार दिया है। उन्‍होंने कहा कि उनके पिता राज्यसभा सदस्य सुखदेव ङ्क्षसह ढींडसा और उन्हें  निलंबित कर पार्टी ने अन्याय किया है। अभी तक उन्हें पार्टी का कोई नोटिस नहीं मिला है। नोटिस मिलने के बाद वह अपना स्पष्टीकरण जरूर देंगे। फिलहाल वह पार्टी में रहकर पार्टी की बेहतरी के लिए आखिरी दम तक कार्य करते रहेंगे।

शिअद की बेहतरी के लिए आखिरी दम तक करते रहेंगे कार्य

नई पार्टी बनाने व अन्य किसी पार्टी में शामिल होने से फिलहाल इन्कार करते हुए परमिंदर ने कहा कि बाकी सब पार्टी के फैसले पर निर्भर करेगा। उन्होंने कहा कि वह पहले पार्टी में रहकर पार्टी की नीतियां सुधारने के लिए आवाज उठाते रहे, लेकिन जब पार्टी ने उनके सुझावों को नजरंदाज किया तो उन्होंने सार्वजनिक तौर पर अपनी बात कहने के लिए मजबूर होना पड़ा। पार्टी में किसी को भी अपनी बात कहने के लिए आजादी नहीं है। कोई नेता अपनी बात कहने की हिम्मत करता है तो उसे पार्टी विरोधी करार दे दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि वह दिल्ली के टकसाली अकाली नेताओं की तरफ से दिल्ली में की जाने वाली विशाल रैली में शिरकत करेंगे, लेकिन पंजाब से उनके समर्थक नहीं जाएंगे। उधर, शिअद के मीडिया इंचार्ज गुरमीत सिंह जौहल ने भी अपने पद से इस्तीफा देने का एलान किया है। हालांकि इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढें: पंजाब के पुलिसकर्मियों को बड़ी राहत, बंद नहीं हाेगी एक माह की अतिरिक्‍त तनख्वाह


यह भी पढ़ें: दीपिका पादुकोण की बाॅलीवुड फिल्‍म 'छपाक' की विशेष स्क्रीनिंग करवाएगी पंजाब सरकार

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!