बलविंदरपाल सिंह, पटियाला। लोगों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम को लेकर जिला प्रशासन लगातार काम कर रहा है और उनकी जिम्मेदारी भी बनती है। खुद मैं भी इसे समय-समय पर चेक करूंगा कि सुरक्षा प्रबंधों को लेकर क्या-क्या इंतजाम किए गए या फिर किए जा रहे हैं। लोगों की सुरक्षा को लेकर दैनिक जागरण द्वारा शुरू किया सड़क सुरक्षा महाअभियान बहुत प्रशंसनीय है। इस अभियान से जिला प्रशासन सहित लोगों को भी जुड़ना चाहिए। यह बात डिविजनल कमिश्नर अरुण सेखड़ी ने विशेष बातचीत के दौरान कही। प्रस्तुत है उनसे सीधी बातचीत के कुछ अंश। 

सवाल : पटियाला डिविजन मे आने वाले कुछ जिलों में रोड सेफ्टी कमेटी नहीं बनी और कुछ में कमेटी बनी तो है लेकिन मीटिंग तय समय पर नहीं होती। इस संबंधी सख्ती क्यों नहीं है?

रोड सेफ्टी कमेटी लोगों की सुरक्षा को लेकर अहम कदम उठाती है। जिसके चलते यह कमेटी गठित करना अनिवार्य है। मैं जल्द ही छह जिलों से रिपोर्ट लूंगा और कमेटी गठित न करने वाले जिला अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करूंगा। रोड सेफ्टी कमेटी गठित करके समय-समय पर मीटिंग करना जरूरी है। पटियाला डिविजन के तहत संगरूर, पटियाला, श्री फतेहगढ़ साहिब, लुधियाना, मालेरकोटला और बरनाला जिला आता है। मैं खुद इन जिलों में चेक करूंगा कि किस-किस जिले में रोड सेफ्टी कमेटी का गठन किया है या नहीं।

इसके अलावा जिस-जिस जिले में रोड सेफ्टी कमेटी है, उसकी मीटिंग का शेड्यूल लेकर यह देखा जाएगा कि वह तय समय पर कमेटी की मीटिंग करते भी हैं या नहीं। पहली बार तो हर जिले को कमेटी की मीटिंग तय समय पर करने के निर्देश जारी किए जाएंगे। अगर इसके बाद भी कोई जिला इसमें लापरवाही बरतेगा तो उसके खिलाफ तुरंत कार्रवाई होगी।

सवाल : सड़कों पर घूम रहे अनफिट वाहनों पर कार्रवाई के लिए क्या उचित कदम उठाए जा रहे हैं?

अनफिट वाहनों पर स्कूल वाहन सुरक्षा कमेटी कार्रवाई कर रही है। इसके अलावा ट्रांसपोर्ट विभाग के मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर द्वारा भी वाहनों की चेकिंग करके उनकी फिटनेस देखकर ही उन्हें फिटनेस सर्टिफिकेट जारी किया जाता है। इसके अलावा पटियाला व फतेहगढ़ साहिब में आरटीए बबनदीप सिंह द्वारा भी इनके खिलाफ कार्रवाई की जाती है। आरटीए दफ्तर द्वारा इस मामले को लेकर क्या उचित कदम उठाए जा रहे हैं, जल्द ही इसकी रिपोर्ट लेकर चेकिंग का जायजा लिया जाएगा। ताकि अगर दफ्तरी अधिकारियों द्वारा मामले में कोई ढील बरती जा रही है, पर तुरंत कार्रवाई कर तेजी लाई जाए सके। अनफिट वाहन सड़कों पर दौड़ नहीं सकते, ऐसे मामलों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।

सवाल : गोशालाएं होने के कारण भी बेसहारा पशु सड़कों पर घूम रहे हैं। इसके लिए कोई उचित कदम उठाए जाएंगे?

सड़कों पर घूम रहे बेसहारा पशुओं को पकड़कर गोशलाओं में पहुंचाने का काम नगर निगम ही करता है। अगर निगम इस काम में लापरवाही बरत रहा है, तो इस संबंधी उक्त जिलों के डीसी को तुरंत चेकिंग करने के निर्देश जारी करेंगे। मामले में मैं खुद डीसी से बात करूंगा और इस मामले में निगम क्या कार्रवाई कर रहा है, की रिपोर्ट लूंगा, ताकि इस काम में ओर तेजी लाई जा सके। इस तरह के मामलों पर भी रोड सेफ्टी कमेटी में चर्चा करके अगली कार्रवाई की जाती है।

सवाल : पटियाला सहित अन्य जिला में एक भी ट्रामा सेंटर नहीं है, इसके लिए क्या उचित कदम उठाए जाएंगे?ट्रामा सेंटर स्थापित करना सेहत विभाग का काम है। फिलहाल मुझे इसकी जानकारी नहीं है। छह जिलों के प्रशासनिक अधिकारियों से इस मामले को लेकर बातचीत करके जायजा लूंगा। हां, फिलहाल यह जानकारी है कि पटियाला में राजिंदरा अस्पताल में ट्रामा सेंटर स्थापित करने का कार्य चल रहा है। इसके अलावा अस्पताल में गंभीर देखभाल यूनिट भी स्थापित होना है। इस संबंधी प्रशासनिक अधिकारियों से बातचीत करके जानकारी लूंगा।

सवाल : हाईवे की सड़कों पर बने ब्लैक स्पाट्स व अवैध कटों को बंद करने के लिए कोई कार्रवाई की जाएगी?- ब्लैक स्पाट व अवैध कट को बंद करने की कार्रवाई पीडब्ल्यूडी व एनएचएआइ करता है। इसके बारे में भी जिला प्रशासन से जायजा लिया जाएगा कि जिलों में किन-किन जगहों पर ब्लैक स्पाट हैं। उन्हें बंद करने के लिए क्या उचित कदम उठाए गए। अगर इस काम में कोई ढील बरती जा रही है तो तुरंत उस काम मे तेजी लाने के निर्देश भी जारी किए जाएंगे।

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट