जागरण संवाददाता, लुधियाना। वीरवार को लुधियाना पहुंचे शिरोमणि अकाली दल के प्रधान एवं पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल ने कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए सूबे में मौजूदा चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार को हर मोर्चे पर विफल करार दिया है। सुखबीर ने अफसरों को चेताया कि देश में कांग्रेस का सफाया हो चुका है। अब पंजाब में भी कांग्रेस अंतिम पढ़ाव में हैं। ऐसे में किसी भी दबाव में आकर कोई गलत फैसला न करें, क्योंकि विधानसभा चुनावों के बाद शिअद बसपा की सरकार बनने पर कांग्रेस सरकार के सभी फैसलों की समीक्षा की जाएगी। सुखबीर बादल शुक्रवार को बाड़ेवाल में पार्टी के लीगल विंग के प्रधान परोपकार सिंह घुम्मण के निवास पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बोल रहे थे।

सुखबीर ने कहा कि सूबे की मौजूदा सरकार के पास दो माह से भी कम का वक्त है। सरकार के पास करने के लिए कुछ नहीं है, सब कुछ मुफ्त करने का ऐलान कर रही है। जबकि सूबे की मालवा बेल्ट में गुलाबी सूंडी के हमले से बड़ी संख्या में किसानों की कपास खराब हुई है। उनको आर्थिक नुकसान हुआ है। सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है, लेकिन अभी तक किसी भी किसान को मुआवजा नहीं मिला है। सुखबीर ने ऐलान किया कि यदि मौजूदा सरकार ने किसानों को मुआवजा नहीं दिया तो जब शिअद बसपा सरकार आएगी तो किसानों को मुआवजा दिया जाएगा।

सुखबीर पंजाब के गृह मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा पर भी जम कर बरसे। बादल ने कहा कि रंधावा पहले कैप्टन के सबसे नजदीकी थे, तब कैप्टन की वाहवाही करते थे। अब कैप्टन के किए कामों पर आवाज उठा रहे हैं। साढ़े चार साल तक क्यों नहीं बोले। सुखबीर ने आरोप लगाया कि रंधावा का नाम कई घपलों में आया है। जेलों में सीआरपीएफ लाना भी इनका ही काम है। सुखबीर ने कहा कि कैप्टन सभी को मिला कर नई पार्टी बनाएं, सभी का निशाना अकाली दल है। शिअद ही पंजाब की पार्टी है। पार्टी प्रधान ने कहा कि गैंगस्टर जेलों से धमकियां दे रहे हैं, क्योंकि पुलिस का राजनीतिकरण किया गया है। कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। गृह मंत्री का भी गैंगस्टरों को आर्शीवाद है। सीबीएसई की ओर से पंजाबी विषय को दरकिनार करने पर सुखबीर ने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि केंद्र पंजाब के साथ लगातार धक्केशाही कर रही है। बीएसएफ का दायरा बढ़ा दिया। मुख्यमंत्री पंजाब के मुद्दों के लिए लड़ाई लड़ने में नाकाम हैं। इस अवसर पर महेश इंद्र सिंह गरेवाल समेत कई नेता मौजूद रहे।

Edited By: Vinay Kumar