जासं, बठिंडा। पंजाब पुलिस के स्पेशल स्टाफ विंग की टीम द्वारा नशा तस्करों को पकड़ने के बाद रिश्वत लेकर उन्हें छोडने के मामले में एसटीएफ द्वारा नामजद किए गए स्पेशल स्टाफ के एएसआइ जरनैल सिंह को एसटीएफ की टीम ने ‌गिरफ्तार कर लिया है। एसटीएफ ने आरोपित एएसआइ को जिला अदालत में पेश कर दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया है। इसकी पुष्टि एसटीएफ के डीएसपी सरबजीत सिंह ने की है। डीएसपी ने दावा किया है कि अब उक्त मामले नें नामजद इंस्पेक्टर रजिंदर कुमार को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एसटीएफ के डीएसपी सरबजीत सिंह ने बताया कि स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर रजिंदर कुमार और एएसआइ जरनैल सिंह पर केस दर्ज करने के बाद उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे थे।

इस दौरान एसटीएफ को सूचना मिली कि आरोपित एएसआई जरनैल सिंह बठिंडा फरीदकोट रोड पर है। सूचना के आधार पर एसटीएफ की टीम ने आरोपित एएसआइ जरनैल सिंह को गिरफतार कर लिया गया। उन्होंने बताया कि आरोपित को अदालत में पेश किया गया, जिसका 24 जनवरी तक पुलिस रिमांड है। डीएसपी ने बताया कि पकडे गए एएसआई से गहराई से पूछताछ की जा रही। एसटीएफ जल्दी ही अब उक्त मामलें के मुख्य आरोपित इंस्पेक्टर रजिंदर कुमार को गिरफतार कर लेगी।

डीएसपी सरबजीत सिंह ने बताया कि आरोपित इंस्पेक्टर रजिंदर कुमार और एएसआइ जरनैल सिंह ने नशा तस्कर जोरा सिंह से रिश्वत लेकर उसे छोड दिया था। उसे भी एसटीएफ 6 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया ‌था।

बतातें चलें कि वर्ष 2021 के अक्तूबर माह की शुरूआत में स्पेशल स्टाफ विंग के इंस्पेक्टर राजिंदर कुमार और एएसआइ जरनैल सिंह ने जोरा सिंह को नशा तस्करी के आरोप में चिट्टे समेत गिरफ्तार किया ‌था। जिसके बाद उक्त स्टाफ के इंस्पेक्टर और एएसआइ ने नशा तस्कर से मोटी रिश्वत लेकर उसे छोड दिया था।

इस मामले के बारे में जैसे ही एसटीएफ को पता चला तो उन्होंने तुरंत कारवाई करते हुए 14 अक्टूबर 2021 को मोहाली स्थित एसटीएफ थाना में इंस्पेक्टर रजिंदर कुमार, एएसआइ जरनैल सिंह के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया ‌था। जिसके बाद दोनों नामजद आरोपित फरार चल रहे थे। अपने पर दर्ज मामलें को लेकर इंस्पेक्टर रजिंदर कुमार ने जिला अदालत समेत पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ में अपनी जमानत याचिका लगाई थी, जोकि अदालत ने खारिज कर दी थी।।

Edited By: Vipin Kumar