लुधियाना, जेएनएन। मेरा बड़ा करारा पुदना ... , बाबा वे कलम रोड ..., जो करना, करी जा चुप करके ... जैसे गीतों से हिंदुस्तान ही नहीं, विदेशों में भी मशहूर होने वाले पंजाबी गायक के दीप (80) का वीरवार काे निधन हाे गया। गानों के अलावा माई मोणो के करारे चुटकुले से अपनी अलग पहचान छोड़ने वाले के दीप ने वीरवार को दीप अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। वह पिछले कई दिनों से अस्वस्थ थे और दीप अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।

वीरवार शाम चार बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार शुक्रवार को माडल टाउन एक्सटेंशन स्थित शमशानगृह में किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मार्च माह में के दीप अपने निवास में गिरकर घायल हो गए थे। इस दौरान उनके सिर पर चोट लगी थी और उनका आपरेशन भी हुआ था।

 भल्ला प्रेरित हुए थे के दीप से

पंजाब के जाने माने कामेडियन जसविंदर भल्ला लोकप्रिय होने से पहले के दीप के पोस्ती और माई मोणा के हास्य धमाकों से ही प्रेरित हुए थे। भल्ला ने उन्हें याद करते हुए कहा कि एकबार के दीप एलबम नहीं निकाल पाए तो उन्होंने उनसी समय चाचा-भतीज के रूप में नया एलबम निकाला और के दीप के एलबम की अनुपस्थिति में वह हिट हो गया। बाद में के दीप उनसे पीएयू में मिले और उन्होंने उनके चाचा-भतीज एलबम की सराहना की।

 31 मई को भी उड़ी थी निधन की अफवाह

पिछले लंबे समय से बीमार रहने वाले के दीप के निधन की अफवाह 31 मई को सोशल मीडिया में भी उड़ी थी, लेकिन बाद में उसे गलत पाया गया। उनकी बेटी बिल्ली कौर ने उनके निधन की अफवाह का खंडन किया था।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!