लुधियाना, [वेब डेस्‍क]। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को यहां कहा कि भारत लगातार विकास के पथ पर अग्रसर है। भारत ने खुद ही प्रगति कर रहा है, बल्कि दुनिया की अर्थ व्‍यवस्‍था का भी मजबूती दे रहा है। भारत की इकनॉमी विश्‍व की सबसे तेजी से बढ़ती इकनॉमी है। मोदी ने मन्त्र दिया की आज़ादी से पहले 'खादी फ़ॉर नेशन' था अब खादी फ़ॉर फैशन' होना चाहिए।

कहा, आज़ादी से पहले 'खादी फ़ॉर नेशन' था अब हो 'खादी फ़ॉर फैशन'

प्रधानमंत्री यहां पंजबा कृषि विश्‍वविद्यालय में प्रधानमंत्री ने एमएसएमई की नई स्कीमें लांच करने के माैके पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री ने एमएसएमई की दो नई स्कीमें लांच की। प्रधानमंत्री ने रिमोट का बटन दबाकर एससी/एसटी हब का भी उद्घाटन किया।

देश का भाग्‍य बदलने में अहम योगदान दे सकते हैं दलित

प्रधानमंत्री दलितों की हालत पर भी चिंता व्यक्त की। उन्‍होंने कहा कि अगर दलितों अौर दबे-कुचले लोेगों को अवसर मिले तो वे देश का भाग्य बदलने में अहम योगदान दे सकते हैं। दलितों में इंट्रप्रेनुरशिप बढ़ाने के लिए बैंकों को एक एक महिला और दलित को कम से कम एक एक करोड़ का लोन देना चाहिए। एससी/एसटी हब इसी दिशा में एक प्रयास है।

'जीरो इफ़ेक्ट, जीरो डिफेक्ट' यानि जेड मार्का

प्रधानमंत्री ने कहा कि 'जीरो इफ़ेक्ट, जीरो डिफेक्ट' यानि जेड मार्का, उत्पादों में क्वालिटी स्तर बढ़ाने की योजना है। इसका उद्देश्‍य है कि वैश्विक बाजार में भारतीय उत्पादों की स्वीकार्यता बढ़ सके और 'मेक इन इंडिया' की धमक मज़बूत हो। इसका मतलब व मापदंड है कि उत्पाद जीरो डिफेक्टिव हो, वही ब्रांडिंग का आधार बनेगा।

माेदी ने एससी/एसटी हब का उद्घाटन किया एमएसएमई की दो नई स्कीमें लांच की

उन्होंने इसरो द्वारा भेजे मंगलयान को बहुत बड़ी उपलब्धि बताया। उन्‍होंने कहा किक हमारे वैज्ञानिकों ने यह कमाल बहुत कम कम खर्च में किया। उन्‍होंने लघु उद्योगों को कामयबी का भी मंत्र दिया। उन्‍होंने कहा कि लघु उद्योगों और उद्यमियों में उत्पादों में गुणवत्ता बढ़ाने की ललक होनी चाहिए। उनको पैकेजिंग पर विशेष ध्‍यान देना होगा। इससे उनकी पहचान बनेगी और वे कामयाबी के शिखर पर पहुंच सकेंगी।

उन्‍होंने आयुर्वेद को लेकर पैकेजिंग के महत्त्व पर भी जानकारी दी। जेड मार्का की चर्चा करते हुए उन्‍होंने उद्यमियों को चेताया कि वैश्विक बाज़ार में भारतीय उत्पादों पर अंगुली न उठे, उत्पादक और उत्पाद इको फ्रेंडली हो , जीरो इफ़ेक्ट प्रोडक्ट तैयार करें।

मोदी ने अपने भाषण में सूक्ष्‍म और लघु उद्योगों को बढ़ावा देने और उन्‍हें नया जीवन देने पर जोर दिया। उन्‍होेंने कहा कि मुद्रा योजना के तहत करोडों के ऋण बिना गारंटी दिए गए और इसमें महिलाओं की भागीदारी ज्यादा रही। प्रधानमंत्री ने कहा कि छोटे-छोटे इनोवेशन पर ध्यान देने की आवश्यकता है। क्रिएटिव होकर देश में आगे बढ़ने के ताकत होगी।

इस अवसर पर केंद्रीय राज्य मंत्री एमएसएमई की उप्लब्धधियां गिनवाईं। उन्‍होेंने कार्यक्रम के शानदार आयोजन और सहयोग के लिए मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बदल का आभार व्यक्त किया। मुख्‍यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने प्रधानमंत्री का अाभार जताया। इससे पहले प्रधानमंत्री ने देशभर के उत्‍कृष्‍ट उद्यमियों को सम्‍मानित किया। समराह में 212 उद्यमियों को सम्‍मानित किया गया। कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री 4.05 बजे दिल्‍ली रवाना हो गए।

इससे पहले उन्‍होंने यहां एक कार्यक्रम में महिलाओं को चरखा प्रदान किया। प्रधानमंत्री ने उनके साथ चरखा भी चलाया। प्रधानमंत्री को अपने बीच पाकर महिलाएं बेहद प्रसन्‍न थीें। पंजाब के राज्‍यपाल वीपी सिंह बदनौर, केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र और उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल भी थे। प्रधानमंत्री ने खादी बोर्ड की प्रदर्शनी भी देखी।

प्रधानमंत्री मोदी ने महिलाओं के साथ चलाया चरखा

प्रधानमंत्री समारोह में 500 महिलाओं को चरखे प्रदान किया। साथ ही क्वायर इंडस्ट्री की ओर से तैयार रथ का भी जायजा लिया। इस रथ पर क्वायर इंडस्ट्री से संबंधित उत्पाद डिस्पले किए गए हैंं। प्रधानमंत्री ने खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

बाद में प्रधानमंत्री मोदी मुख्‍य समारोह के मंच पर पहुंचे। मंच पर उनके साथ पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल, राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर, केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह,
एमएसएमई मंत्री कलराज मिश्र, केंद्रीय राज्य मंत्री हरी भाई, पंजाब उद्योग मंत्री मदन मोहन मित्तल, केंद्रीय मंत्री और प्रदेश भाजपा अध्य्क्ष विजय संपला भी मौजूद थे। मोदी का सीएम प्रकाश सिंह बादल ने गुलदस्ता देकर स्वागत किया।

प्रधानमंत्री के दौरे की तैयारी पर नजर रखने के लिए केंद्रीय राज्‍यमंत्री गिरिराज सिंह दो दिन पहले ही यहां आ गए थे। वह तैयारियों पर नजर रखने के साथ-सा‍थ उद्यिमों के साथ भी बैठक कर रहे हैं। भाजपा के प्रदेश नेता भी समारोह को लेकर सक्रिय है।

पीएयू के अासपास सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम हैं। पिछले दिनों पीएयू परिसर से थोड़ी दूरी पर डीएवी स्‍कूल के पास हथियारबंद कुछ संदिग्‍धों को देखे जाने के बाद सुरक्षा के प्रबंध कड़े कर दिए गए। पुलिस के संग अर्द्ध सैनिक बलों के जवानों का भी पूरी क्षेत्र में पहरा है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!