लुधियाना, जेएनएन। Kisan Tractor March: देशभर में किसानों के समर्थन में हर कोई अपने-अपने अंदाज में समर्थन कर रहा है। 26 जनवरी को दिल्ली में निकाली जाने वाली ट्रैक्टर रैली से पूर्व लुधियाना में भी वीकेंड किसानों के नाम रहा। इस दाैरान 500 लग्जरी गाड़ियाें के काफिले में रैली निकाली गई। भले ही रैली केवल दो घंटे के लिए निकाली गई, लेकिन इसमें ट्रैक्टर, ट्रक के साथ साथ लग्जरी गाड़ियों के अलावा दोपहिया वाहन भी देखने को मिले। रैली में लगभग पांच सौ वाहन थे।

 रैली में किसानों के समर्थन के लिए लोगों ने कारों के आगे किसान आंदोलन के झंडे लगा रखे थे। इस दौरान किसानों से ज्यादा शहर के एलीट क्लास लोग दिखाई दिए। जो परिवार सहित रैली में हिस्सा लेने पहुंचे। करीब 40 किलोमीटर की यह रैली साउथ सिटी शिवालिक पंप से आरंभ होकर लाडोवाल टोल प्लाजा तक गई और वहां से वापस आई। इसमें भारी संख्या में युवा कारों के साथ साथ लग्जरी बाइक्स पर भी पहुंचे, जबकि हर सप्ताह साइकिल चलाने वाले साइकिलिस्ट भी रैली का हिस्सा बनने के लिए आए। इस दौरान कई कारों पर तो बकायदा नो फार्मर नो फूड के स्टीकर लगवाए गए थे। रैली में शामिल लोग सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने के साथ-साथ किसानों के हित में कृषि सुधार कानून वापस लेने की मांग कर रहे थे। इस रैली को लेकर पुरुषों के अलावा महिलाओं व युवाओं में भी उत्साह दिखा।

इस रैली में रामगढ़िया एजूकेशन काउंसिल के प्रधान रणजोध सिंह, बल¨वदर सिंह, दविंदर सिंह नागी, डा. बीएस शाह, सुरिंदर खंगूड़ा, तेजिंदर सिंह समेत कई लोगों का अहम योगदान रहा।

ट्राली पर लगाई किसानों के संघर्ष की डिस्प्ले

इस रैली में सरकारी महिला कालेज के फाइन आट्र्स के लेक्चरर परवीन कुमार की 28 फीट एवं छह फीट की पेंटिंग को भी ट्राली पर खास तौर पर डिस्पले किया गया। इसमें किसान संघर्ष को रंगों के साथ खूबसूरती से उकेरा गया था।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप