जागरण संवाददाता, लुधियाना। PSEB Paper Leak: सोमवार काे पीएसईबी 10वीं कक्षा का इंग्लिश का प्रश्न पत्र एजुकेशन हब लिंक पर परीक्षा शुरू होने से दो घंटे पहले लीक होने के साथ-साथ वायरल हो गया। पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (PSEB) के सितंबर मिड टर्म टेस्ट तेरह 13 सितंबर से जारी है। इससे पहले जिस दिन टेस्ट शुरू हुए थे, उस दिन भी यू-ट्यूब के एक लिंक पर लीक हुए प्रश्न पत्र वायरल हुए थे। इसके बाद अगले दिन भी किसी अगले चैनल पर विभिन्न कक्षाओं के प्रश्न पत्र वायरल हए थे।

परीक्षा का समय सुबह 10 बजे रहा और अध्यापकों के पास प्रश्न पत्र 9 बजे पहुंचा। बावजूद इसके सुबह सात बजे से ही प्रश्न पत्र वायरल होता रहा। प्रश्न पत्र में पूछे गए सवाल वायरल लिंक के साथ हूबहू मैच हुए। नकल विरोधी अध्यापक फ्रंट के सुखदर्शन सिंह ने सिंतबर मिड टर्म टेस्ट के शुरू होते और पहले दिन ही पेपर लीक होने पर सेक्रेटरी एजुकेशन और जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत की ती। दूसरे दिन जब दोबारा पेपर लीक हुआ तो उन्होंने मुख्यमंत्री के साथ-साथ दोबारा शिक्षा विभाग के कई अधिकारियों को शिकायत दी थी।

15 सिंतबर को मुख्यमंत्री कार्यालय से शिक्षा सचिव को मामले की जांच के आदेश दिए गए थे जिसके तुरंत बाद सेक्रेटरी एजुकेशन कार्यालय की ओर से सुखदर्शन सिंह को फोन कर वायरल हुए लिंक को अपलोड कर भेजने की बात की गई। सुखदर्शन सिंह ने कहा कि सोमवार तीसरी बार इंगलिश का प्रश्न पत्र लीक हो वायरल होता रहा, सरकार को साइबर क्राइम को मामले की जांच सौंपी जानी चाहिए क्योंकि यह बच्चों के भविष्य की बात है।

एक घंटा पहले प्रश्न पत्र भेजे जाने के दिए गए थे निर्दश

सेक्रेटरी एजूकेशन ने पिछले दो बार प्रश्न पत्र लीक होने के बाद सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि प्रश्न पत्र परीक्षा के दिन से एक घंटा पहले अध्यापकों तक पहुंचाए जाए। अब जब प्रश्न पत्र एक घंटा पहले अध्यापकों तक पहुंचाए जा रहे हैं, वह तब भी लीक हो वायरल हो रहे हैं।

एमसीक्यूज प्रश्न पत्र आना ही सिस्टम के विपरीत

नकल विरोधी अध्यापक फ्रंट के प्रधान सुखदर्शन सिंह ने कहा कि पीएसईबी का एमसीक्यूज प्रश्न पत्र भेजे जाना ही गलत है। इससे विद्यार्थियों को लिखने की आदत बिल्कुल नहीं रहेगी। वैसे भी यह सिस्टम 12वीं के बाद और प्रतियोगी परीक्षाओं में ठीक रहता है।

 

Edited By: Vipin Kumar