जागरण संवाददाता, लुधियाना : माय सिटी माय प्राइड मुहिम के फोरम उठे 11 मुद्दों में से अधिकतर को सरकार ने गंभीरता से लेना शुरू कर दिया। बुड्ढा दरिया की सफाई हो या फिर वाटर लॉगिंग की समस्या से निपटने के लिए रेन वाटर होर्वेस्टिंग वेल बनाना। यही नहीं वेस्ट मैनेजमेंट व बेसहारा पशुओं से निपटने व हलवारा में कमर्शियल एयरपोर्ट बनाने के लिए सरकार ने अहम फैसले ले लिए हैं। सरकार के अलग अलग फैसलों से उक्त प्रोजेक्टों के पूरे होने की आस जागने लगी है।

बुड्ढा दरिया की सफाई को लेकर कई लोगों ने राउंड टेबल कांफ्रेंस और फोरम में आवाज उठाई थी। उस वक्त विधायक कुलदीप सिंह वैद्य ने दरिया की सफाई के लिए प्रोजेक्ट बनाने की बात कही थी। अब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने श्री भैणी साहिब के प्रमुख सतगुरु ठाकुर उदय सिंह की अध्यक्षता में टास्क फोर्स का गठन कर दिया। यह फोर्स दो माह में अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को देगी। इसी तरह बरसात के सीजन में वाटर लॉगिंग की समस्या से निपटने और ग्राउंड वाटर लेबल को मेंटेन करने के लिए शहर में अधिक से अधिक रेन वाटर हार्वेस्टिंग वेल बनाने का मुद्दा उठाया गया।

पंजाब सरकार ने अब कॉलोनियों की रेगुलराइजेशन पॉलिसी में अनिवार्य कर दिया है कि कॉलोनी तब तक रेगुलर नहीं होगी जब तक कि हर कॉलोनी में रेन वाटर हार्वेस्टिंग वेल न बना हो। शहर में बेसहारा पशुओं की समस्या का मुद्दा भी आरटीसी और फोरम में उठा था। जिस पर मेयर ने आश्वासन दिया था कि इस समस्या से निपटने के लिए निगम नई गोशाला के साथ अनुबंध करने जा रहा है। निगम हाउस में बेसहारा पशुओं को सड़क से हटाने के लिए प्राचीन गोशाला टू को सौंपने का प्रस्ताव पास किया जिसे पंजाब सरकार ने अप्रूवल दे दी।

कूड़ा प्रबंधन शहर की प्रमुख समस्या है। इसके लिए शहर में करीब 40 कंपेक्टर लगाए जाने का प्रस्ताव स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में फॉरवर्ड कर दिया गया है। जबकि कुछ सेकेंडरी कूड़ा डंपों को संवारने के लिए नगर निगम उद्यमियों से संपर्क कर रहा है। इसके अलावा कूड़ा प्रबंधन के लिए निगम कंपोस्ट प्लांट लगवा रहा है। टूटी सड़कों के मुद्दे पर मेयर ने वादा किया था कि वह पूरे शहर की सड़कों को गड्ढा मुक्त कर देंगे। उसके बाद मेयर बलकार सिंह ने पूरे शहर में पैचवर्क कर गड्ढे भरने का काम युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया।

एयरपोर्ट के मामले में सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा था कि इसे जल्दी शुरू करवा दिया जाएगा। उसके बाद एयर पोर्ट की फाइल केंद्र सरकार के पास पहुंच गई है। इधर ग्रेटर लुधियाना डेवलपमेंट अथॉरिटी ने एयरपोर्ट टर्मिनल के लिए जगह अधिग्रहण की पूरी तैयारी कर ली है। केंद्र सरकार की हरी झंडी मिलते ही ग्लाडा भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर लेगा। शहर में डीजल ऑटो से होने वाले प्रदूषण को कम करने का मुद्दा भी फोरम के दौरान उठा। इस पर भी सरकार ने लुधियाना में नए सीएनजी पंप खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

By Krishan Kumar