जागरण संवाददाता, लुधियाना। अपने बेटे अगम मित्तल को सिविल सर्विस परीक्षाओं की तैयारी करवाना चाहता था। पंजाब की औद्योगिक राजधानी लुधियाना में कोई ऐसा शिक्षण संस्थान नहीं था कि जहां मेरे बेटे जैसे सिविल सर्विस परीक्षा पास करने की इच्छा रखने वाले सैंकड़ों युवा प्रशिक्षण ले सकें। ऐसे में जब मैं दिल्ली में अपने बेटे को सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करवाने गया था तो वहां पर संकल्प शिक्षा संस्थान देखा। यहां पर गरीब व जरूरतमंद बच्चों को सिविल सर्विस की कम पैसों में प्रशिक्षण दिया जाता है। तब मैंने ठान लिया कि मैं भी लुधियाना में संकल्प शिक्षा संस्था जैसे केंद्र स्थापित करूंगा ताकि हर बच्चा अपना सिविल सर्विस परीक्षा पास करने का सपना पूरा कर सके। यह कहना है प्रसिद्ध समाज सेवी व बिजनेसमैन नरिंदर मित्तल का। फाउंडर नरिंदर मित्तल के साथ ही कुलदीप जैन, दविंदर गुप्ता, रजत सूद, चंद्र मोहन जैन, राकेश जैन, प्रसन्न कुमार, पंकज गोयल, मनोज गोलचा, ललित भंडारी, गीताजंलि मेहरा, रीमा जलोटा, प्रिंसिपल नीलम नैय्यर, प्रमोद जैन, डीआर भट्टी, प्रो. मुकेश कुमार अरोड़ा संस्थान के साथ जुड़े हुए हैं।

शहर के शिक्षा संस्थानों में शुरू किए जागरूकता कैंप
समाज सेवी नरिंदर मित्तल ने बताया कि आज से आठ वर्ष पहले दिल्ली की ही संकल्प संस्थान की लुधियाना शाखा स्थापित की। इसी के तहत पहले लुधियाना के विभिन्न स्कूलों, कॉलेजों व इंस्टीट्यूट में जाकर जागरूकता कैंप व सेमीनार लगाए। जिसमें दिल्ली से सिविल सर्विस परीक्षा के माहिर आकर युवाओं को जागरूक करते थे। इस जागरूकता सेमीनारों में युवाओं को बताया जाता था कि आईएएस, आर्इपीएस व सिविल सर्विस परीक्षा क्या है, कैसे तैयारी करनी है, कौन-कौन सी किताबें जरूरी हैं और कितना क्या पढ़ना चाहिए और इस दौरान कौन-कौन सी मुशिकलें आती हैं।

संकल्प रीडिंग रूम में पढ़ते हैं स्टूडेंट
मित्तल ने बताया कि चार वर्ष पहले भारत विकास परिषद विकलांग सहायता केंद्र में संकल्प रीडिंग रूम स्थापित कर दिया है। जहां पर सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी संबंधी पूरी सुविधाएं उपलब्ध हैं। जहां पर गरीब व आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग के युवा ग्रेजुएशन की पढ़ाई के बाद सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करते हैं। उन्हें 12 घंटे के लिए पढ़ने के लिए रीडिंग रूम दिया है। जहां पर पूरा एसी रूम, सभी समाचारपत्र व किताबों को लाइब्रेरी में रखा गया है। जहां से प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।

आईएएस व आईपीएस एक्पर्ट देते हैं प्रशिक्षण
सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करने वाले युवाओं के लिए इंटर वियू गाइडेंस सैल का निर्माण किया गया है। इसमें पंजाब के कई कार्यरत अधिकारी, आईएएस व आईपीएस अधिकारी, भूतपूर्व अधिकारी आते हैं और प्रशिक्षण देने के साथ-साथ अनुभव साझा करते हैं। वहीं पढ़ाने वाले सभी फेकल्टी मेंबर दिल्ली से आते हैं। जिनको कई वर्षों से सिविल सर्विस की पढ़ाई कराने का अनुभव है। यह संकल्प रीडिंग रूम 18 प्रतियोगियों से शुरू हुई थी और अब करीब 50 स्टूडेंट सिविल सर्विस परीक्षा की ट्रेनिंग ले रहे हैं। मित्तल ने बताया कि दिल्ली की संकल्प शिक्षा संस्थान में हर वर्ष हजारों गरीब व आर्थिंक तौर पर कमजोर वर्ग के स्टूडेंट युवा प्रशिक्षण लेते हैं और सैकड़ों हर वर्ष परीक्षा पास करते हैं। लुधियाना संकल्प शाखा में जो भी युवा सिविल सर्विस परीक्षा का प्रशिक्षण लेना चाहता हैं उसके लिए उनकी एक प्रवेश परीक्षा ली जाती है। उसी के आधार पर दाखिला होता है और जो भी बच्चा जितनी फीस दे सकता है वो डोनेशन के रूप में लेते हैं। पिछले चार वर्षों की तपस्या में तीन संकल्प स्टूडेंट अधिकारी बन चुके हैं।

संकल्प शाखा में शुक्रवार दो बजे से पांच बजे, शनिवार सुबह दस बजे से पांच बजे, रविवार सुबह दस बजे से 2 बजे तक कक्षाएं लगती हैं। इसके अलावा विद्यार्थियों के अभिभावकों के लिए एक महीने में एक बार प्रीति भोज रखा जाता है ताकि वे भी संस्थान की कार्यप्रणाली के बारे में जान लें। इसके अलावा हर वर्ष एक वार्षिक समारोह करवाया जाता है जिसमें दिल्ली संकल्प के चुने गए आईएएस, आईपीएस विद्यार्थियों को यहां बुलाकर सम्मानित किया जाता है।

By Krishan Kumar