जागरण संवाददाता, संगरूर। पुलिस ने विदेश में सरगर्म असामाजिक संगठनों से वित्तीय मदद प्राप्त करके पंजाब में आतंकी वारदात करने की फिराक में बैठे एक व्यक्ति को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।लहरागागा के गांव खाई से गिरफ्तार आरोपित लखबीर सिंह राज मिस्त्री के तौर पर काम करता था। उसके बारे में पुलिस को इंटेलीजेंसी एजेंसी से सूचना मिली थी। पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके उसके पास से हथियार व अन्य सामग्री बरामद की है। पुलिस का दावा है कि लखबीर के की गिरफ्तारी से अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन का पर्दाफाश होने की संभावना है। आरोपित विदेश में सरगर्म खालिस्तानी तत्वों से काफी प्रभावित है और किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम दे सकता था। लखबीर सिंह उर्फ लक्खा के खिलाफ थाना लहरा में मामला दर्ज कर अगली जांच-पड़ताल की जा रही है। मामले में कई अहम सुराग हाथ लगने की संभावना है।

एसएसपी संगरूर स्वपन शर्मा का कहना है कि पुलिस को लहरा इलाके के लखवीर सिंह के बार में सूचना मिली थी कि वह विदेश में बैठे खालिस्तानी तत्वों से काफी प्रेरित है। आमदनी की कमी के कारण विदेशी ताकतों ने उसे पैसे का लालच देकर तैयार किया है। विदेशी तत्वों ने उसे पंजाब में टारगेट हत्याएं करने या धार्मिक स्थानों पर हमला करने के लिए प्रेरित किया है। वे उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इस पर पुलिस ने लखवीर को गिरफ्तार कर लिया। 

जांच में सामने आया कि आतंकवाद फंडिग के मामले में पैसे के लेनदेन के लिए विभिन्न डिजिटल प्लेटफार्म का इस्तेमाल किया जा रहा है। लखवीर के खाते में नई दिल्ली, मोगा व खन्ना से पैसा जमा करवाया गया है। पुलिस ने इन ट्रांजेक्शन का पता लगाने के लिए कनाडा के वेंनकुवर के एक व्यक्ति व पोलैंड के एक व्यक्ति की भी पहचान की है, जो इस संगठन के मास्टरमाइंड व फंड मुहैया करवाने में अहम भूमिका निभाते हैं।

एसएसपी शर्मा ने कहा कि लखवीर के खाते में नकदी जमा करवाने वाले स्थानीय लोगों की भी पहचान की जा रही है। पुलिस ने लखबीर को असलहा मुहैया करवाने वाले मूनक के एक व्यक्ति सुखजीत सिंह उर्फ सुक्खी की भी पहचान कर ली है। सुखजीत नाजायज असलाह मुहैया करवाने वालों के साथ संबंध हैं। उसने लखवीर को .32 बोर देसी पिस्तौल मुहैया करवाया है, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है।

बताया जा रहा है कि करीब डेढ़ लाख रुपये की राशि भी लखबीर से मिली है। वहीं, सुखजीत सिंह पहले भी उत्तर प्रदेश से गैरकानूनी हथियारों की तस्वरी में शामिल रहा है। उसके खिलाफ जिला पटियाला के त्रिपड़ी थाने में एक मामला दर्ज है। पुलिस आतंकी आपरेटरों के वारदात करने के तरीके, सहयोगियों, इनके निशाने पर कौन व्यक्ति हैं, इसकी जांच कर रही है। 

Edited By: Pankaj Dwivedi