जासं, लुधियाना। लाेक इंसाफ पार्टी के सुप्रीमो व विधायक सिमरजीत बैंस (Simarjit Singh Bains) के खिलाफ महिला से दुष्कर्म का मामला दर्ज होने के बाद मंगलवार शाम पुलिस व अधिकारियों की टीम उनके निवास पर पहुंची। विधायक बैंस के घर में मौजूद नहीं होने के कारण पुलिस कुछ ही समय बाद वापस आ गई। पुलिस की टीम के साथ पीड़ित महिला भी थी। जिस पर शहर में चर्चाएं शुरू हो गई कि पुलिस विधायक बैंस को गिरफ्तार करने के लिए गई है।

मगर देर रात अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि पुलिस वहां बैंस को गिरफ्तार करने नहीं बल्कि मामले की तफ्तीश के लिए वहां गई थी। एडीसीपी जसकिरनजीत सिंह तेजा ने कहा कि विधायक के खिलाफ दर्ज हुए केस के संबंध में अभी तफ्तीश चल रही है। कई प्रकार की औपचारिक्ताएं पूरी की जानी बाकी हैं। पुलिस की टीम उसी संबंध में वहां गई थी। आज गई टीम ने मामले में वांछित केस का नक्शा तैयार किया है।

महिला को मिल रही थी जान से मारने की धमकियां

महिला काे पुलिस को शिकायत देने के बाद लगातार जान से मारने की धमकियां मिलने लगीं थी। इस पर पुलिस कमिश्नर ने महिला की रक्षा के लिए उसे सिक्योरिटी प्रदान कराई थी। मगर इन्वेस्टीगेशन के नाम पर मामले को लटका दिया गया।

यह भी पढ़ें-पंजाब में शौहर ने डाक से पत्र भेज लिखा Talaq-Talaq-Talaq, फिर पत्नी को घर से भी निकाला, अब कसा शिकंजा

अदालत के निर्देश पर हुआ था केस

करीब पांच महीने से इंसाफ के लिए लड़ रही दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला को अब उम्मीद की किरण नजर आई है। अदालत के निर्देश पर लुधियाना के थाना डिवीजन नंबर 6 पुलिस ने लोक इंसाफ पार्टी प्रधान विधायक सिमरजीत सिंह बैंस समेत 7 लोगों के खिलाफ साजिश के तहत दुष्कर्म, छेड़छाड़ तथा धमकाने के आरोप में केस दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें-Honey Trap: पाकिस्तानी युवती ने सैन्य Whatsapp ग्रुपों में लगाई सेंध, लुधियाना के जसविंदर से OTP मंगवा आपरेट कर रही थी नंबर

 

Edited By: Vipin Kumar